कभी पीएम बनकर, कभी सीएम बनकर , कभी पुलिस बनकर कभी नगर निगम कर्मचारी बन कर 20 बार तुझे बताने के लिए आया था कि घर में बैठ जा , बच जाएगा।

यह जो तुम ऊपरवाले के भरोसे बैठे हो न !
अगर कोरोना से मर मरा गए तो ऊपर जाकर उससे पूछना -
प्रभु हमें बचाने क्यों नहीं आए ?
ऊपरवाला यही कहेगा - गधे !
कभी पीएम बनकर, कभी सीएम बनकर , कभी पुलिस बनकर कभी नगर निगम कर्मचारी बन कर 20 बार तुझे बताने के लिए आया था कि घर में बैठ जा , बच जाएगा।
तू कौनसा अर्जुन है जो तुझे विराट रूप दिखाता !


Popular posts
ग्रामीण आजीविका मिशन मे भ्रष्टाचार की फिर खुली पोल, प्रशिक्षण के नाम पर हुआ घोटाला, एनसीएल सीएसआर मद से मिले 12 लाख डकारे
Image
आंसू" जता देते है, "दर्द" कैसा है?* *"बेरूखी" बता देती है, "हमदर्द" कैसा है?*
कान्हावाड़ी में बनेगी अनूठी नक्षत्र वाटिका, पूर्वजों की याद में लगायेंगे पौधे* *सांसद डीडी उइके एवं सामाजिक कार्यकर्ता मोहन नागर ने कान्हावाड़ी पहुँचकर किया स्थल निरीक्षण
Image
कुदरत का कहर भी जरूरी था साहब, वरना हर कोई खुद को खुदा समझ रहा था*  - दिनेश साहू
Image
अगर आप दुख पर ध्यान देंगे तो हमेशा दुखी रहेंगे और सुख पर ध्यान देंगे तो हमेशा सुखी रहेंगे
Image