तू नाराज तो है अपने इंसान से भगवान..  नहीं तो मंदिरों के दरवाजे बंद ना करता..  सज़ा दे रहा है - सविता विस्वास

तू नाराज तो है अपने इंसान से भगवान.. 
नहीं तो मंदिरों के दरवाजे बंद ना करता.. 
सज़ा दे रहा है कुदरत से खिलवाड़ की.. 
नहीं तो गुरुद्वारों से लंगर कभी ना उठता.. 
आज उन बारिश की बूंदों से संदेश मिला.. 
रोता तो तू भी है जब इंसान आंसू बहाता.. 
माफ़ करदे अपने बच्चों के हर गुनाह.. 
सब कहते हैं, तेरी मर्ज़ी के बिना तो पत्ता भी नहीं हिलता!!! 🍁👏🍁😭🙏🏻श्री राधे राधे