बैतूल / धार -: जिला पंचायत अध्यक्ष सूरज जावलकर की पहल से ग्रामीणों को निशुल्क अनाज वितरण किया गया  -: आशीष पेंढारकर 

बैतूल / धार -: जिला पंचायत अध्यक्ष सूरज जावलकर की पहल से ग्रामीणों को निशुल्क अनाज वितरण किया गया  -: आशीष पेंढारकर
--------------
आज कोरोना नामक महामारी के दौर से देश भर में लॉकडाउन है जिसके कारण कई ग्रामीण अंचलो में ग्रामीणों को दैनिक उपयोग के वस्तुओ एवं खाद्य सामग्री के अभाव में जीवन व्यापन करना पड़ रहा है। कही ग्रामीणों के पास नगद राशि न होने के कारण किराना खाद्य सामग्री एवं अन्य दैनिक उपयोगिता के वस्तुओ के अभाव में गुजारा करना पड़ रहा है। इस विषय की जानकारी माननीय जिला पंचायत अध्यक्ष श्री सुरजलाल जावरकर जी को जैसे ही पता चला उन्होंने तुरन्त सेंट्रल बैंक आफ इंडिया शाखा खामला के कियोस्क संचालक श्री संजीत बेले से सम्पर्क किया और ग्रामीणों की परेशानी से अवगत कराया। और तत्काल ग्रामीणों को बैंकिंग सुविधा देने की बात की। साथ ही ग्रामीणों को सोसल डिस्टेंस में रहकर राशि निकासी के लिये कहा और ग्रामीणों को कोरोना नामक महामारी से कुछ स्वास्थ्य सम्बंधित सावधानिया बरतने के लिए कहा गया। साथ ही आज दिनांक 19 अप्रैल 2020 को प्रशासन द्वारा जारी दिशा निर्देश के आधार पर पात्रता पर्ची या कूपन धारी परिवारो को प्रति व्यक्ति 5 किलो अनाज प्रति माह के हिसाब से दो - दो माह का अनाज निशुल्क प्रदान किया गया। माननीय प्रधानमन्त्री श्री नरेंद्र मोदी एवं माननीय मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान जी के नेतृत्व में पं.दीनदयाल उपाध्याय जी का जो सपना था अंतिम पंक्ति के व्यक्ति तक लाभ पहुचाना उन सपनो को साकार करने में एक पहल किया गया।


Popular posts
अतिथि शिक्षकों को अप्रैल तक का मानदेय होगा भुगतान 
Image
हर साल 1000 करोड़ का घोटाला करता है राशन माफिया
Image
रायसेन में डॉ राधाकृष्णन हायर सेकंडरी स्कूल के पास मछली और चिकन के दुकान से होती है गंदगी नगर पालिका प्रशासन को सूचना देने के बाद भी नहीं हुई कोई कार्यवाही
बीती देर रात सांसद दुर्गादास उईके ने ग्राम पिपरी पहुंचकर हादसे में मृतकों के परिजनों से की मुलाकात ।
Image
*ये दुनिया भी कितनी निराली है!* *जिसकी आँखों में नींद है …. उसके पास अच्छा बिस्तर नहीं …जिसके पास अच्छा बिस्तर है …….उसकी आँखों में नींद नहीं …* *जिसके मन में दया है ….उसके पास किसी को देने के लिए धन नहीं* …. *और जिसके पास धन है उसके मन में दया नहीं