बिना तौले दे रहे सिलेंडर कम निकल रही गैस*    (राजकुमार सोनी पत्रकार)

*बिना तौले दे रहे सिलेंडर कम निकल रही गैस*



   (राजकुमार सोनी पत्रकार)



मोहखेड़:-विकासखण्ड  मुख्यालय मोहखेड़ एंव उमरानाला की रसोई गैस एजेंसी संचालक शासन के बनाए गए नियमों का पालन नही कर रहे है.जिससे ग्राहको के साथ धोखाधड़ी हो रही है.एजेंसी संचालक द्वारा उपभोक्ता को रसोई गैस तो दी जा रही है.लेकिन टंकी में पर्याप्त गैस है या नही इसका किसी  पता नही होता है.क्योंकि एजेंसी संचालक एंव हाकर ग्राहको को बिना तौले ही गैस सिलेंडर दे रहे है.जबकि रसोई गैस तौल कर देने के लिए नियम लागू हुए लंबा अरसा बीत गया है.इस तरह विकासखण्ड भर के हजारो से अधिक गैस सिलेंडर उपभोक्ता ठगे जा रहे है।
  घरेलू गैस टंकी में गैस की मात्रा 14 किलों 200 ग्राम होना जरूरी है.इसलिए सरकार ने गैस सिलेंडर तौल कर देने के विधिक माप अधिनियम 2011 के नियमों में संशोधन कर नए प्रावधान जोंडे है.इसमें उल्लेख किया गया है कि सिलेंडर तौल कर लेना उपभोक्ता का अधिकार है और उसके मुताबिक गैस एजेंसी संचालक हाकर्स को 50 किलों क्षमता का ऐसा तौल यंत्र रखना जरूरी है,जो भरे गैस सिलेंडर का सटीक वजन बता सकें.यह तौल काटा इलेक्ट्रॉनिक का सटीक वजन बता सके.यह तौल कांटा इलेक्ट्रॉनिक या मैकेनिकल हो सकता है.वही इस बारे में सभी  एजेंसी संचालको को निर्देश भी दिए गए है कि गैस वितरण वाहन एंव हाकर के पास या गैस गोदाम में नाप तौल काटा रखना जरूरी है.यदि वह ऐसा नही करते है तो सबंधित एजेंसी पर कार्यवाही करने की बात भी कही गई है.