कांगे्रस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर की गई टिप्पणी निंदनीय अर्णब गोस्वामी ने नारी मर्यादा को किया तार-तार: जीतू पटवारी


कांगे्रस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर की गई टिप्पणी निंदनीय
अर्णब गोस्वामी ने नारी मर्यादा को किया तार-तार: जीतू पटवारी


भोपाल, 


अखिल भारतीय कांगे्रस कमेटी की अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी पर अर्णब गोस्वामी द्वारा दिये गये लाइव डिबेट में अभद्र और अमर्यादित टिप्पणी की गई है, जिसकी  मध्यप्रदेश कांग्रेस कड़े शब्दों में निंदा करती है।  
प्रदेष कांगे्रस मीडिया अध्यक्ष श्री जीतू पटवारी ने कहा कि ऐसे समय में लोकतंत्र का चैथा स्तंभ कहलाने वाले मीडिया को भी अपनी भूमिका पहचाननी होगी और सच का साथ देना होगा, यदि हाँ में हाँ मिलाते रहे तो लोकतंत्र की विश्वसनीयता पर भी एक बड़ा प्रश्नचिन्ह खड़ा हो सकता है।
श्री पटवारी ने कहा कि मैं अपने मीडिया के साथियों, संपादकों और वरिष्ठ पत्रकारों से आग्रह करता हूँ कि वे अपने विवेक से निर्णय लेकर यह सोचे और बताएं कि जिस तरह की अभद्रतापूर्ण टिप्पणियां अर्णब गोस्वामी ने कांगे्रस नेतृत्व सोनिया गांधी पर की है, क्या वह सही है? जिस परिवार, समाज या देश में नारी की इज्जत नहीं होती उसका पराभव अवश्यंभावी है।
श्री पटवारी ने कहा कि सोनिया गांधी जी जैसी चरित्रवान भारतीय संस्कारों को वहन करने वाली भारतीय महिला पर कटाक्ष करने वाले अर्नब गोस्वामी की इस अनर्गल टिप्पणी  को पत्रकारिता कह सकते हैं? यह तो सांप्रदायिक हिंसा भड़काने का कुत्सित प्रयास है। उन्हंे न तो भाषा की और न ही किसी की मर्यादा का ध्यान है, उन्होंने जो अभद्रतापूर्ण टिप्पणी की हैं वह दंडनीय अपराध है। अब समय आ गया है कि नफरत फैलाने वाले एवं दूसरों के चरित्रपर उंगली उठाने वाले पत्रकारों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही होनी चाहिए।
श्री पटवारी ने कहा कि हमें यह भी याद रखना होगा की हमारे संविधान में बोलने की स्वतंत्रता रखने के साथ-साथ अनर्गल, अभद्रतापूर्ण, अमर्यादित बातें करने वालों,  साम्प्रदायिकता फैलाने वालों को दंडित करने का भी कानून अपने अंदर समाहित रखता है।
अंत मे लोकतंत्र के चैथे स्तंभ अपने पत्रकार साथियों से पुनः आग्रह करते हुए श्री पटवारी ने कहा कि वक्त के साथ चलना जरूरी नहीं, सच के साथ चलिए एक दिन वक्त आपके साथ चलेगा