कलेक्टर ने प्रदेष के बाहर फंसे व्यक्तियों की मदद हेतु लिखा पत्र.

उमरिया - विश्वव्यापी संक्रमण नोवल कोरोना वायरस (कोविड-19) के कारण 14 अप्रैल 2020 तक पूर्णतः लॉक डाउन किया गया है। कलेक्टर स्वरोचिष सोमवंषी को दूरभाष पर अवगत कराया गया है कि निम्नानुसार व्यक्ति अब लॉक डाउन होने के कारण प्रदेश के बाहर ही फसे ये है, जिसमें सुदर्शन सिंह शोभा सिंह सहित लगभग 40 व्यक्ति सभी उमरिया एवं अनूपपुर जिला के है जो रोजगार की तलाष मे गोवा गये थे,लोक डाउन के कारण साउथ गोवा मे फंसे हुए है इनके रहने ,खाने पीने की कोई उचित व्यवस्था नहीं हो पा रही है। बसंत सिंह ग्राम बडागांव मझगवा जिनकी पिनौरा मे मेडिकल की दुकान है छत्तीसगढ मे लाक डाउन मे फंसे है ,उ मरिया आने चाहते है,शामिल है। इसी तरह मीरा बाई गुप्ता निवासी बजौरी तहसील मानुपर रामनारायण गुप्ता निवासी ग्राम बिजौरी मानपुर की माता जी मीरा बाई गं सा बैंगलोर कर्नाटक मे लाक डाउन के कारण फंसी हुई है उमरिया आने की अनुमति नही है,संतराम ग्राम नरवार जनपद पंचायत करकेली सहित पांच व्यक्ति छत्तीसगढ मे रोजगार हेतु गये थे इनको रहने एवं भोजन की समस्यां आ रही है,शैलेंद्र सिंह ग्राम इंदवार तहसील मानपुर सहित 25 व्यक्ति भाव नगर अहमदाबाद में फंसे हुए है की मदद के लिए कलेक्टर उमरिया ने श्री आई०सी०पी० केशरी (आई.ए.एस.) अपर मुख्य सचिव, मध्यप्रदेश शासन, वाणिज्य कर विभाग एवं राज्य मुख्य समन्वयक-अति सेवायें मंत्रालय, वल्लभ भवन, भोपाल को पत्र लिखा है।


Popular posts
कुदरत का कहर भी जरूरी था साहब, वरना हर कोई खुद को खुदा समझ रहा था*  - दिनेश साहू
Image
एक रोटी कम खा लेंगे पापा बाहर मत जाओ तुम हो तो हम है
Image
बैतूल पाढर चौकी के ग्राम उमरवानी में जुआ रेड पर जबरदस्त कार्यवाही की गई
Image
मध्यप्रदेश के मेघनगर (झाबुआ) में मिट्टी से प्रेशर कुकर बन रहे है
Image
सरकारी माफिया / म. प्र. भोज मुक्त विश्वविद्यालय बना आर्थिक गबन और भ्रष्टाचार का अड्डा* **राजभवन सचिवालय के अधिकारियों की कार्य प्रणाली संदेह के घेरे में** *कांग्रेसी मूल पृष्ठ भूमि के कुलपति डॉ जयंत सोनवलकर अब राज्यपाल आर एस एस का संरक्षण बताकर कर रहे है खुलकर भ्रष्टाचार*