क्या गुरु गोबिंद सिंह जी इस्लाम के खिलाफ थे" ?

मेरे एक परम मित्र (भाई से बढ़कर) की एक बार मुलाक़ात आमिर खान से हुई तो एक सिक्ख  देखकर आमिर खान ने अपने मन की उत्सुकता रोक नहीं पाए और उनसे सवाल कर दिया की "क्या गुरु गोबिंद सिंह जी इस्लाम के खिलाफ थे" ? उनके इस सवाल से मेरे मित्र के चेहरे पर पहले तो एक मुस्कान आई लेकिन फिर उन्होंने ने बड़ी गंभीरता से उनके मन की उस शंका को बड़े ही सुलझे हुए ढंग से उन्ही से सवाल कर दूर किया I


मेरे मित्र ने उनको बताया की गुरु जी ने अपने 42 साल के जीवन काल में 14जंगे लड़ी गयी जो सभी जुल्म और ज़ालिम के खिलाफ थी उनमे से केवल एक मुग़ल शासक के खिलाफ थी, बाकि 13 गैर मुस्लिम के साथ हुयी, मेरे मित्र द्वारा आमिर खान पूछा गया पहला सवाल था की एक मुस्लिम पीर पीर बुधु शाह द्वारा गुरु जी के लिए खुद को शहीद कर देना, दूसरा दो मुस्लिम भाई, भाई गनी खां और भाई नबी खां के घर गुरु जी को एक रात शरण देना और उनका गुरु जी को समर्पित होना क्या दर्शाता है i गुरु जी इस्लाम के खिलाफ थे? हेदराबाद निजाम द्वारा नांदेड के आसपास के सेंकडो गाँव गुरु जी के नाम कर देना, बहादुरशाह को उसका राजपाट दिलवाना क्या ये सब बातें कही से भी इस्लाम के खिलाफ नज़र आती हैं? 


इस सब को सुनकर आमिर खान ने बड़ी ही ख़ुशी के साथ उनकी हर बात से सहमती जताते हुए बताया की इनमे से काफी बातो से वह पहले से जानकार थे लेकिन कुछ लोगो द्वारा फैलाया जाने वाला झूठ उनमे मन मे शंका पैदा करता जो आज दूर हो गई I


उनकी इस मुलाकात पर हुई उनकी वार्तालाप को यहाँ साँझा करने का मेरा केवल यही मकसद था की जो लोग ऐसे भ्रम फैलाते हैं या जिनमे मन मैं सिक्खों को लेकर कोई शंका है वो दूर हो जाये की सिख किसी भी धर्म, मज़हब के खिलाफ ਵੌ सिक्ख तो केवल जुल्म और ज़ालिम के खिलाफ था है और रहेगा, दुसरे धर्म की इज्ज़त हर सिख का पहला फ़र्ज़ है और सिक्ख ये फ़र्ज़ निभाते रहेंगे ........


Popular posts
घुटने टेकना' पहले सजा थी, अब 'घुटने टेके' तो सजा मिल गयी
ग्राम बादलपुर में धान खरीदी केंद्र खुलवाने के लिये बैतूल हरदा सांसद महोदय श्री दुर्गादास उईके जी से चर्चा करते हुए दैनिक रोजगार के पल के प्रधान संपादक दिनेश साहू
Image
18 दिन के महाभारत युद्ध ने* *द्रौपदी की उम्र को* *80 वर्ष जैसा कर दिया था...*
Image
कुजू कोयला मंडी में रामगढ़ पुलिस का छापा कैफ संचालक समत दो हिरासत में
कान्हावाड़ी में बनेगी अनूठी नक्षत्र वाटिका, पूर्वजों की याद में लगायेंगे पौधे* *सांसद डीडी उइके एवं सामाजिक कार्यकर्ता मोहन नागर ने कान्हावाड़ी पहुँचकर किया स्थल निरीक्षण
Image