लाॅक डाउन का उल्लंघन सही या गलत .....? - दीपेन्द्र हयारण

लाॅक डाउन का उल्लंघन सही या गलत .....?


विगत दिनों से सारा विश्व, गंभीर बीमारी कोरोना से लड़ रहा है जिसके लिये हमारे देश भारत में भी सभी मानवीयो द्वारा दिन प्रतिदिन अपनों से आग्रह किया जा रहा है कि वह घरों में सुरक्षित रहें। 


छोटी सी पहल के तौर पर घर में सुरक्षित रहने वाला लाॅक डाउन का आदेश आज्ञानता वश कोई ना कोई उलंघन कर रहा है। 


ऐसी ही एक घटना भोपाल शहर के पुराने इलाके तलैया क्षेत्र मे 06 अप्रैल को घटित हुई ।
जिसमें किराये के कमरे में संचलित आंगनबाडी पर आंगनबाडी की कार्यकर्ता पुष्पा साहू द्वारा 31 मार्च एवं 4 अप्रैल को लागू लाॅक डाउन पालन ना करते हुये सर्वे बोलकर आंगनबाडी को चालू रखा गया एवं आंगनबाडी की झाडू पौछा एवं बर्तन साफ करना और जरुरी कागज की आवश्यकता बोलकर 6 अप्रैल को पुनः आंगनबाडी खोलने का प्रयास किया गया जिसका विरोध करते हुये मकान मालिक द्वारा आंगनबाडी को बंद रखने का प्रयास किया गया परंतु आंगनबाडी की कार्यकर्ता जो कि बिना किसी सुरक्षा साधनो द्वारा बिना माक्स के 5-6 लोगों की भीड़ बनाकर आंगनबाडी खुलवाने का प्रयास करती रही जबकि मकान मालिक द्वारा निवेदन के तौर पर कार्यकर्ता के हाथ सेनेेटाइजर से धोकर एवं उचित कार्यवाही जो आंगनबाडी खोलकर करना चाहती है उसके आवेदन की मांग की गई परंतु हाथ धोने के लिये कार्यकर्ता के पास ना सेनेेटाइजर था और ना ही किसी भी प्रकार कि आई डी उस समय नही थी।
जिसके लिये मकान मालिक को 100 डाॅयल का सहारा लेना पड़ा। 100 डाॅयल की सहायता से पुलिस ने पुष्पा साहू को समझाया भी गया कि वह आंगनबाडी ना खोले परंतु पुलिस के जाने उपरांत आंगनबाडी कार्यकर्ता द्वारा 2-3 बार फोन पर मकान मालिक को फिर से पोषक आहार को बटाने को लेकर 7 अप्रैल को आंगनबाडी खोलने की मांग की जा रही है । 
जहां कोरोना पाॅजिटिव की संख्या भोपाल में 61 हो गई है परंतु इन जैसे आज्ञान लोगो को समझा पाना मुश्किल हो रहा है । मकान मालिक द्वारा  मानवता के फर्ज को याद रख कर 104 हेल्प लाइन से सुझाव भी लिया गया कि उसके द्वारा उठाया कदम सही है या गलत.....?
कोरोना और फुल लाॅक डाउन के दौरान घर के अंदर आंगनबाडी का खोलना उचित है या नही.....?
मकान मालिक के परिवार के सदस्यों की स्वास्थ्य की जिम्मेदारी किसकी बनती है....?


दीपेन्द्र हयारण 
9893044445 , 9826737187
नोट: मकान मालिक के घर में लगे CCTV में सारी घटना मौजूद है। 
मेरा विनम्र निवेदन है कि पुष्पा साहू पर कार्यवाही ना करते हुये उचित समझाइश दी जाये क्योकि सभी को कोरोना से बचाव की आवश्यकता है।


Popular posts
घुटने टेकना' पहले सजा थी, अब 'घुटने टेके' तो सजा मिल गयी
ग्राम बादलपुर में धान खरीदी केंद्र खुलवाने के लिये बैतूल हरदा सांसद महोदय श्री दुर्गादास उईके जी से चर्चा करते हुए दैनिक रोजगार के पल के प्रधान संपादक दिनेश साहू
Image
18 दिन के महाभारत युद्ध ने* *द्रौपदी की उम्र को* *80 वर्ष जैसा कर दिया था...*
Image
कुजू कोयला मंडी में रामगढ़ पुलिस का छापा कैफ संचालक समत दो हिरासत में
कान्हावाड़ी में बनेगी अनूठी नक्षत्र वाटिका, पूर्वजों की याद में लगायेंगे पौधे* *सांसद डीडी उइके एवं सामाजिक कार्यकर्ता मोहन नागर ने कान्हावाड़ी पहुँचकर किया स्थल निरीक्षण
Image