लॉक डाउन के बीच भोपाल में दिखी गंगा जमुनी तहजीब

हिंदू महिला की अर्थी को मुस्लिमों ने कंधा देकर पेश की मिसाल


भोपाल/ कोरोना वायरस के चलते देशभर में लॉकडाउन लागू है। यातायात के तमात साधन भी ठप हैं। ऐसे में कई लोगों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में एक ऐसा मामला सामने आया है जो लोगों के लिए मिसाल बन गया है। लॉकडाउन के बीच कोई परिजन नही होने की स्थिति में एक महिला की अर्थी को मुस्लिम युवकों ने कंधा दिया। इन लोगों ने अर्थी को राम नाम सत्य है के नारे लगाते हुए घाट तक ले जाने में मदद पहुंचाई। दरअसल बुधवार को राजधानी के टीला जमालपुरा क्षेत्र में सामान्य बीमारी के चलते एक हिंदू महिला की आज मौत हुई थी लॉकडाउन के चलते महिला के रिश्तेदार भी आने में असमर्थ थे। ऐसे में इन मुस्लिम समुदाय के युवकों ने आगे आकर मदद की। जिससे कोरोना काल के बीच भोपाल में आपसी भाईचारे की तस्वीर नजर आई। बताया जा रहा है कि मृतक महिला कुछ दिनों से बीमार थी ओर अपने पुत्र और पति के साथ रहती थी लॉकडाउन के बीच ट्रांसपोर्ट ना मिलने के चलते पड़ोस के मुस्लिम युवकों ने अर्थी को कंधा दिया जिसके बाद श्मशान घाट पर महिला के बच्चे और पति ने उसका अंतिम संस्कार किया। वहीं मुस्लिम युवकों का कहना है कि लॉक डाउन होने के चलते उनके रिश्तेदार आ नहीं सके जिसकी वजह से पड़ोसी होने के नाते मदद करना उनका फर्ज था।