मध्यप्रदेश के या राज्य से बाहर फंसे लोगों के आवागमन हेतु ई-पास की सुविधा संबंधी निर्देश

हरदा। अपर मुख्य सचिव प्रभारी स्टेट कंट्रोल रूम मध्यप्रदेश शासन ने आई.सी.पी. केशरी ने समस्त कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक को मध्यप्रदेश के या मध्यप्रदेश के बाहर फंसे लोगों के आवागमन हेतु ई-पास की सुविधा हेतु निर्देश जारी किये है। उन्होने निर्देशित किया है कि देश के अन्य हॉट-स्पॉट जिलों से प्रदेश में आने के लिये कोई भी पास आगामी आदेश तक जारी नहीं किये जाए। हॉट-स्पॉट की जानकारी स्वास्थ्य ई-पास को प्रदेश में आने या प्रदेश के बाहर जाने के लिये स्वयं के वाहन या साधन की व्यवस्था होने पर ही ई-पास दिया जाए। जो अभिभावक अन्य प्रदेशों में फंसे हये अपने बच्चों को लेने के लिये जाना चाहते है एवं पुनः प्रदेश में उन्हें वापस लेकर आना चाहते है इस तरह के प्रकरणों में आने एवं जाने का पास एक साथ जारी किया जा सकता है। संबंधित साफ्टवेयर में इसका प्रावधान है। प्रदेश के एक जिले से दूसरे जिलों में कार्य हेतु जाने के लिये कांट्रेक्टर्स एवं मजदूरों के आवेदन के आधार पर ई-पास जारी किया जा सकता है। पास जारी करने के पूर्व इस बात का ध्यान रखा जाए कि पूर्व हॉट-स्पॉट वाले जिलो से आने पर प्रतिबंध है। इसी प्रकार इंदौर, भोपाल और उज्जैन में केवल मृत्यु एवं मेडिकल इमरजेंसी को छोड़कर अन्य आवागमन पर प्रतिबंध है।


Popular posts
सरकारी माफिया / म. प्र. भोज मुक्त विश्वविद्यालय बना आर्थिक गबन और भ्रष्टाचार का अड्डा* **राजभवन सचिवालय के अधिकारियों की कार्य प्रणाली संदेह के घेरे में** *कांग्रेसी मूल पृष्ठ भूमि के कुलपति डॉ जयंत सोनवलकर अब राज्यपाल आर एस एस का संरक्षण बताकर कर रहे है खुलकर भ्रष्टाचार*
कोरोना के एक वर्ष पूरे आज ही के दिन चीन में कोरोना का पहला केस मिला था
Image
ग्रामीण आजीविका मिशन मे भ्रष्टाचार की फिर खुली पोल, प्रशिक्षण के नाम पर हुआ घोटाला, एनसीएल सीएसआर मद से मिले 12 लाख डकारे
Image
दैनिक रोजगार के पल समाचार की तरफ से सभी पत्रकार साथियों को विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
Image
भारत- सीमा विवादः भारत की अंतरराष्ट्रीय सीमा, नियंत्रण रेखा और वास्तविक नियंत्रण रेखा - ये तीनों आख़िर हैं क्या?
Image