फिर लौटा मध्यप्रदेष जंगलराज की ओर....... जबेरा में मासूम के साथ दरिंदगी की घटना बेहद शर्मनाक, कानून-व्यवस्था बनी मजाक: दीपक बावरिया

 


फिर लौटा मध्यप्रदेष जंगलराज की ओर.......
जबेरा में मासूम के साथ दरिंदगी की घटना बेहद
शर्मनाक, कानून-व्यवस्था बनी मजाक: दीपक बावरिया


भोपाल, 24 


अखिल भारतीय कांगे्रस कमेटी के महासचिव मध्यप्रदेष प्रभारी श्री दीपक बावरिया ने मध्यप्रदेष के दमोह जिले के जबेरा में छह साल की मासूम बालिका के साथ हुई दरिंदगी की घटना पर प्रदेष के मुख्यमंत्री षिवराजसिंह पर निषाना साधते हुए कहा है कि प्रदेष में एक बार फिर जंगलराज लौट आया है। जबेरा की घटना दिल दहला देने वाली घटना है।
श्री बावरिया ने कहा कि जहां पूरे विष्व में कोरोना के चलते लाॅकडाॅउन की स्थिति है, वहीं मध्यप्रदेष में अपराध चरम पर हैं। जबेरा की घटना से ऐसा प्रतीत होता है मानो अपराधियों को षिवराज और भाजपा का पूरा संरक्षण मिल रहा है, जहां चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल तैनात है, लोग जहां आवष्यक वस्तुएं तक खरीदने के लिए घरों से बाहर नहीं निकल पा रहे है, अपराधी खुले आम घूम रहे हैं। ऐसी स्थिति में इस प्रकार की घटनाएं होना किसी बड़े बरदहस्त के बिना संभव नहीं हैं।
श्री बावरिया ने कहा कि महज एक महीने में जबेरा ही नहीं पूरे प्रदेष में आपराधिक घटनाओं को ग्राफ बढ़ गया है। जहां भोपाल में थाने के सामने एक नाबालिग ज्यादती का शिकार हुई है, प्रदेश में रेप, हत्या, किसान की हत्या, गोलीबाजी, चाकूबाजी की घटनाएँ जारी हैं। वहीं लाॅकडाउन के चलते प्रदेष के नागरिकों को राषन प्रणाली से मिलने वाला राषन सामग्री नहीं मिल रही है, जिससे लोग भूखमरी की कगार पर आ गये हैं। इसका जीवंत उदाहरण उनकी ही पार्टी के वरिष्ठ नेता पूर्व मंत्री गोपाल भार्गव ने यह कहकर प्रमाणित कर दिया है कि मजदूरों के खाते मंे एक हजार रूपये नहीं डाले गये हैं और न उन्हें राषन दुकानों से राषन मिल रहा है। जो भाजपा सरकार की कलई खोलता है।    
श्री बावरिया ने कहा कि षिवराजसिंह चैहान ने प्रदेष में केवल पांच मंत्रियों की अपनी टीम बनाकर यह साबित कर दिया है कि भाजपा में उनका कितना बजूद है, वे लोकतंत्र की हत्या कर बनायी गई सरकार प्रदेष में चला रहे हैं। इसका जबाव आगामी होने वाले विधानसभा उपचुनाव में जनता उन्हें देगी ओर खरीद-फरोख्त कर बनायी गई यह सरकार रेत की तरह मुठ्ठी से फिसल जाएगी। श्री बावरिया ने कहा कि प्रदेश में मासूम बालिकाएं अब सुरक्षित नहीं हैं। उन्होंने ऐसी घटनाओं के आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा दिये जाने की सरकार से मांग की है।


 


Popular posts
ग्रामीण आजीविका मिशन मे भ्रष्टाचार की फिर खुली पोल, प्रशिक्षण के नाम पर हुआ घोटाला, एनसीएल सीएसआर मद से मिले 12 लाख डकारे
Image
आंसू" जता देते है, "दर्द" कैसा है?* *"बेरूखी" बता देती है, "हमदर्द" कैसा है?*
कान्हावाड़ी में बनेगी अनूठी नक्षत्र वाटिका, पूर्वजों की याद में लगायेंगे पौधे* *सांसद डीडी उइके एवं सामाजिक कार्यकर्ता मोहन नागर ने कान्हावाड़ी पहुँचकर किया स्थल निरीक्षण
Image
कुदरत का कहर भी जरूरी था साहब, वरना हर कोई खुद को खुदा समझ रहा था*  - दिनेश साहू
Image
अगर आप दुख पर ध्यान देंगे तो हमेशा दुखी रहेंगे और सुख पर ध्यान देंगे तो हमेशा सुखी रहेंगे
Image