प्रधानमंत्री श्री मोदी ने की कोरोना नियंत्रण पर राज्यों से चर्चा मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान भी शामिल


भोपाल : मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान आज प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा कोरोना नियंत्रण एवं कोरोना संकट से उत्पन्न परिस्थितियों के संबंध में राज्यों के मुख्यमंत्रियों से वीडियो कान्फ्रेंसिंग में शामिल हुए। आज चर्चा में नौ राज्य शामिल हुए। इस अवसर पर लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र, मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, पुलिस महानिदेशक श्री विवेक जौहरी, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मो. सुलेमान एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे। प्रधानमंत्री श्री मोदी ने मुख्यमंत्रियों के साथ कोरोना संक्रमण की रोकथाम, कंटेनमेंट एरिया में आवश्यक वस्तुएँ पहुंचाने और अन्य नागरिक सुविधाएँ देने तथा 3 मई के बाद जरूरी तैयारियों पर चर्चा की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने की निर्देशों के क्रियान्वयन पर चर्चा मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रधानमंत्री श्री मोदी की वीडियो कान्फ्रेंसिंग के बाद मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस और अन्य अधिकारियों से चर्चा की।


श्री चौहान ने अधिकारियों को प्रधानमंत्री श्री मोदी के निर्देशों के अनुरूप कोरोना के उपचार, 3 मई के बाद तैयारियों और आर्थिक गतिविधियों के संचालन के लिए प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए। प्रधानमंत्री द्वारा राज्यों से आने वाले दिनों के लिए मॉडल तैयार करने के निर्देश के संबंध में भी आवश्यक कदम उठाने कोकहा गया। मुख्यमंत्री ने कहा कि केन्द्र से विस्तृत निर्देश प्राप्त होने के बाद समस्त महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर मध्यप्रदेश सरकार द्वारा कार्यवाही की जाएगीमुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रधानमंत्री जी द्वारा सुझाए गए उपायों पर क्रियान्वयन के निर्देश भी दिए।


Popular posts
ग्रामीण आजीविका मिशन मे भ्रष्टाचार की फिर खुली पोल, प्रशिक्षण के नाम पर हुआ घोटाला, एनसीएल सीएसआर मद से मिले 12 लाख डकारे
Image
बैतूल पाढर चौकी के ग्राम उमरवानी में जुआ रेड पर जबरदस्त कार्यवाही की गई
Image
मोहम्मद शमी ने कहा, निजी और प्रोफेशनल मसलों की वजह से 'तीन बार आत्महत्या करने के बारे में सोचा'
Image
दैनिक रोजगार के पल परिवार की तरफ से समस्त भारतवासियों को दीपावली पर्व की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं
Image
मामला लगभग 45 लाख की ऋण राशि का है प्राथमिक कृषि सेवा सहकारी समिति मर्यादित चोपना के लापरवाही का नतीजा भुगत रहे हैं गरीब किसान