रस्म अदायगी से नहीं सुधरेंगे हालात उद्योग कैसे शुरू होंगे सरकार बताये रोडमेप : कांग्रेस


रस्म अदायगी से नहीं सुधरेंगे हालात
उद्योग कैसे शुरू होंगे सरकार बताये रोडमेप : कांग्रेस


भोपाल, 


मध्यप्रदेश काग्रेस के मीडिया विभाग के उपाध्यक्ष भूपेन्द्र गुप्ता ने सरकार से मांग की है कि, चूंकि 20 अप्रेल के बाद धीरे धीरे लाकडाउन में ढील देने की नीति पर विचार हो रहा है तब राज्य के उद्योग कैसे शुरू होंगे इसका स्पष्ट रोडमेप बताया जाना चाहिये ताकि उद्यमी अपनी तात्कालिक तैयारियां कर सकें।
गुप्ता ने कहा चूंकि प्रदेश में सर्वाधिक उद्योग जिन शहरों में स्थित हैं वे कोरोना के दृष्टि से रेड जोन में आते है,इसलिये उद्योगों पर पूरी सामाजिक जिम्मेदारी यानि ये कहा जा रहा कि जो मजदूर काम करेगा और अगर वह कोरोना संक्रमित हो जाता है वह जिम्मेदारी  उद्यमी की होगी ऐसी शर्तें थोपने से उद्योगों का उत्पादन शुरू करना असंभव हो जायेगा। गुप्ता ने मांग की कि सरकार तत्काल बिजली बिलों मे उत्पादन रहित महीनों का फिक्स चार्ज समाप्त करे। ऐसी छूटें अन्य राज्यों गुजरात, पंजाब में दी जा चुकी हैं। हरियाणा एवं महाराष्ट्र में आदेश प्रतीक्षित हैं। केन्द्र की घोषणा के बावजूद जिन बैंको ने म्डप् काट ली हैं उन्हें वापिस क्रेडिट कराया जाये, जो उद्योग पर्याप्त रूप से और प्रमाणिक ट्रेक रिकार्ड के साथ निर्यात करते हैं उन्हें शुरु करने की अनुमति दी जाये और उनके कर्मचारियों को पास दिये जाये।
गुप्ता ने आग्रह किया है कि श्रम कानून से ही वर्तमान परिस्थितियों को डील किया जाता है तो सकारात्मक प्रभाव होंगे। उन्होंने कार्य के घंटे 8 से बढाकर 12 करने की मांग की है।
गुप्ता ने आगाह किया कि चंद पसंदीदा उद्योगपतियों से बात करके राज्य की आर्थिक गतिविधियां पटरी पर नहीं आयेगी, उनके लिये मैत्रीपूर्ण नीतियां तत्काल ड्राफ्ट करना होंगीं। गुप्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री की उद्यमियों से वीडियो कान्फ्रेंस केवल रस्म अदायगी थी।अब समय हवा हवाई बातों का नहीं ठोस करने का है।