सारणी :- कोरोना संकट को लेकर विधायक ने ली प्रशासनिक अधिकारी व जनप्रतिनिधियों की बैठक * आशीष पेंढारकर *

सारणी :- कोरोना संकट को लेकर विधायक ने ली प्रशासनिक अधिकारी व जनप्रतिनिधियों की बैठक



* आशीष पेंढारकर *


सारनी। कोरोना के संकट और लॉक डाउन बढ़ने के संकेतों के बीच सोमवार को प्रशासनिक अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों की बैठक हुई। इसमें विभिन्न मुद्दों पर विचार, विमर्श हुए। चर्चा में शहर के लोगों को जीवन यापन करने के लिए भोजन पहुंचाने और खाद्यान्न उपलब्ध कराए जाने को लेकर चर्चा हुई। नगर पालिका ने कहा 21 दिनों के लॉक डाउन के दौरान स्वयं सेवी संस्थाओं के माध्यम से भोजन दे दिया गया, लेकिन आगे इस तरह की व्यवस्था कर पाना मुश्किल है। विधायक ने कहा सभी मिलकर इसे पूरा करेंगे।
नगर पालिका के सभाकक्ष में शाम 4 बजे से शुरू हुई बैठक में आमला-सारनी विधायक डॉ. योगश पंडाग्रे, नगर पालिका अध्यक्ष आशा भारती, उपाध्यक्ष भीम बहादुर थापा, एसडीएम हरसिमरन प्रीत कौर, तहसीलदार मोनिका विश्वकर्मा, एसडीओपी एआर चौधरी, सीएमओ सीके मेश्राम, सीईओ दानिश अहमद खान, टीआई महेंद्रसिंह चौहान समेत जनप्रतिनिधि मौजूद थे। बैठक के दौरान लॉक डाउन को लेकर चर्चा हुई। उपाध्यक्ष भीम बहादुर थापा ने कहा कई लोगों के कूपन नहीं है। सफेद कार्डधारियों को राशन नहीं मिल पा रहा है। इस पर विधायक ने कहा सभी को जीवन यापन योग्य राशन दिया जाएगा। सीएमओ सीके मेश्राम ने कहा 338 ऐसे लोगों का सर्वे किया गया है जो गरीब है और उनके सफेद राशन कार्ड है। पार्षदों ने बताया इनके आईडी जनरेट नहीं हो रहे हैं। एसडीएम सुश्री कौर ने कहा तकनीकी समस्या को सुधरवाया जाएगा। विधायक ने सीएमओ से कहा किसी भी तरह का सूखा खाद्यान्न किसी को सीधे ना दिया जाएं। इन्हें राशन दुकानों के जरिए देने का प्रबंध होना चाहिए। ऐसे में लोगों को दोबारा राशन जैसी समस्या नहीं आएगी। वहीं जरूरतमंदों को पूरा राशन मिल सकेगा। इसके लिए जरूरतमंदों का सर्वे अगले दो दिनों में पूरा करने की बात सीएमओ ने कही। उन्होंने कहा सभी को चिन्हित किया जाएगा। लिस्टिंग की जाएगी। सीएमओ सीके मेश्राम ने कहा 14 अप्रैल के बाद भोजन पैकेट पहुंचाने लायक स्थिति स्वयं सेवी संस्थाओं की नहीं है। इसलिए इसके लिए प्रबंधन करने की जरूरत है। बैठक में भाजपा जिला मंत्री रंजीत सिंह, मंडल के अध्यक्ष सुधा चंद्रा, ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष भगवान जावरे, नेता प्रतिपक्ष संजय अग्रवाल, पूर्व पार्षद दशरथ सिंह जाट, ग्रामीण मंडल अध्यक्ष मोहन मोरे, महेंद्र भारती, केके भावसार, विनायकराव बागड़े, दिलीप भालेराव समेत अन्य मौजूद थे। 
सीएम हेल्पलाइन पर झूठी शिकायतों का अंबार 
नेता प्रतिपक्ष संजय अग्रवाल ने कहा सीएम हेल्पलाइन पर राशन नहीं मिलने जैसी झूठी शिकायतें हो रही हैं। इनका निदान होना चाहिए। जांच करने के बाद यदि संबंधित गलत है तो इसके खिलाफ एफआर्आर होनी चाहिए। इस तरह तो हेल्प लाइन का गलत तरह से उपयोग हो रहा है। एसमडीएम ने जांच की बात कही। 
नेताओं ने कहा स्वयं सेवी संस्थाओं को शासन द्वारा राशन देने की जानकारी छिपाई
बैठक के दौरान स्वयं सेवी संस्थाओं को शासन द्वारा राशन दिए जाने की जानकारी सामने आई। इस पर उन्होंने नाराजगी जताई। भाजपा के जिला मंत्री रंजीत सिंह, मंडल अध्यक्ष सुधा चंद्रा ने आपत्ति ली। उन्होंने कहा जनप्रतिनिधि होने के नाते उनके पास भी जरूरतमंदों के फोन आते हैं। यदि नपा सहायता कर रही थी तो बताया जाना चाहिए था।