सविता कोविंद राष्ट्रपति भवन के शक्ति हाट में अपने हाथ से सिलाई मशीन की मदद से फेस मास्क बना रही हैं.


सविता कोविंद राष्ट्रपति भवन के शक्ति हाट में अपने हाथ से सिलाई मशीन की मदद से फेस मास्क बना रही हैं.देश की प्रथम महिला सविता कोविंद की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है, जिसमें वह कपड़े के मास्क सिलती नज़र आ रही हैं. सविता कोविंद राष्ट्रपति भवन के शक्ति हाट में अपने हाथ से सिलाई मशीन की मदद से फेस मास्क बना रही हैं. तस्वीर में सविता कोविंद ने खुद भी कपड़े का बना लाल रंग का मास्क लगाया है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यह मास्क दिल्ली के अलग-अलग शेल्टर होम भिजवाए जाएंगे. समाचार एजेंसी एएनआई के अलावा कर्नाटक बीजेपी के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से इस तस्वीर को साझा किया गया है.


तस्वीर का कैप्शन है, "हमारे देश की फर्स्ट लेडी सविता कोविंद मास्क सिल रही हैं, इन्हें दिल्ली के विभिन्न शेल्टर होम में बांटा जाएगा. मिसाल पेश करने के लिए अम्मा आपका शुक्रिया."इसके बाद ट्विटर पर कई लोगों ने सविता कोविंद के इस कदम की सराहना की है. एक यूजर ने लिखा कि उन्हें देश की पहली महिला पर गर्व है. एक अन्य यूजर ने लिखा कि ये तस्वीर भर नहीं है, बल्कि एक संदेश है, जब मैं, हम में बदल जाता है तो बीमारी इलाज बन जाती है. इससे पहले, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद कोरोना संकट में मदद के लिए अपने एक महीने का वेतन प्रधानमंत्री केयर फंड मे देने की घोषणा कर चुके हैं.भारतीय गृह मंत्रालय ने अपने दिशानिर्देशों में सार्वजनिक स्थानों और कार्यस्थलों पर सभी के लिए मुँह ढकना अनिवार्य कर दिया है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) समेत स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने भी कहा है कि लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा-पूरा ध्यान रखना चाहिए. साथ ही मुँह ढकने के अलावा अन्य सावधानियां भी बरतनी चाहिए. भारत में 25 मार्च से लॉकडाउन है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 14 अप्रैल को लॉकडाउन 3 मई तक बढ़ाने की घोषणा की थी. भारत में कोरोना संक्रमित लोगों का आंकड़ा 21 हज़ार को पार कर गया है, जबकि मृतक संख्या 600 से अधिक हो गई है.


Popular posts
ग्रामीण आजीविका मिशन मे भ्रष्टाचार की फिर खुली पोल, प्रशिक्षण के नाम पर हुआ घोटाला, एनसीएल सीएसआर मद से मिले 12 लाख डकारे
Image
आंसू" जता देते है, "दर्द" कैसा है?* *"बेरूखी" बता देती है, "हमदर्द" कैसा है?*
कान्हावाड़ी में बनेगी अनूठी नक्षत्र वाटिका, पूर्वजों की याद में लगायेंगे पौधे* *सांसद डीडी उइके एवं सामाजिक कार्यकर्ता मोहन नागर ने कान्हावाड़ी पहुँचकर किया स्थल निरीक्षण
Image
कुदरत का कहर भी जरूरी था साहब, वरना हर कोई खुद को खुदा समझ रहा था*  - दिनेश साहू
Image
अगर आप दुख पर ध्यान देंगे तो हमेशा दुखी रहेंगे और सुख पर ध्यान देंगे तो हमेशा सुखी रहेंगे
Image