उम्र कैद की सजा व्यापता केदी की मौत,सेंट्रल जेल इंदौर से छह माह के पेरोल पर आया था कैदी, जिसका जेल में कैंसर का इलाज चल रहा था

उम्र कैद की सजा व्यापता केदी की मौत,सेंट्रल जेल इंदौर से छह माह के पेरोल पर आया था कैदी, जिसका जेल में कैंसर का इलाज चल रहा था


जोबट:-- कहते हैं की जन्म और मृत्यु विधि कै हाथ में निहित है उसे यह जब देखना मिला जब एक उम्र कैद की सजा काट रहे व्यक्ति की पैरोल पर आने से अपने घर ही मौत हो गई यहां ज्ञातव्य है कि उक्त कैदी कैंसर से पीड़ित था।प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम बड़ागुड़ा के नोहतडा  फलिया निवासी ढुडला पीता नरसिंह उम्र 60 वर्ष जिसनेअपने भाई के साले कि 12 वर्ष पूर्व निर्मल हत्या कर दी थी, उसेन्यायालय ने उम्रकैद की सजा से दंडित किया था ढुडला ने 8 वर्ष 6 माह की सजा सेंट्रल जेल इंदौर में सजा काटने के पश्चात दिनांक 29 फरवरी को 6 माह के पैरोल पर अपने ग्राम बड़ागुढ़ा  आया था जो कैंसर पीड़ित था जिसका जेल में इलाज जारी था जिसकी अचानक 23  अप्रैल को उसकी मौत हो गई परिजनों ने इसकी सूचना पुलिस थाना जोबट को दी,  मृतक का शव परीक्षण कर परिजनों को अंतिम संस्कार के लिए सुप्रत किया पुलिस ने मर्ग कायम कर उक्त घटना की सूचना सेंट्रल जेल इंदौर को दी।
उम्र कैद की सजा व्यापता केदी की मौत,सेंट्रल जेल इंदौर से छह माह के पेरोल पर आया था कैदी, जिसका जेल में कैंसर का इलाज चल रहा था