जिले के 19 फीवर क्‍लीनिक पर कुल 2621 मरीजों का परीक्षण के पश्‍चात उन्‍हें दवाईयॉ एवं आवश्‍यक परामर्श दिया गया*

 मंदसौर -


कलेक्‍टर श्री मनोज पुष्‍प ने जानकारी देते हुए बताया कि कोविड-19 महामारी को दृष्टिगत रखते हुए जिले में 19 शासकीय अस्‍पतालों में फीवर क्‍लीनिक संचालित किये जा रहे है। फीवर क्‍लीनिक का संचालन बेहतर त‍रीके से हो इसके लिये प्रत्‍येक संस्‍था पर एक-एक चिकित्‍सक को प्रभारी बनाया गया है। डॉ आरके द्विवेदी जिला चिकित्‍सालय मंदसौर, डॉ के.एस. परिहार सिविल अस्‍पताल गरोठ, डॉ आकाश चौधरी भानपुरा, डॉ घनश्‍याम पाटीदार सी.एच.सी. मल्‍हारगढ, डॉ बी.के. सुरा नारायणगढ, डॉ प्रेरणा शर्मा सीतामउ, डॉ स्‍नेहिल जैन सुवासरा, डॉ विशाल खुतवाल धुंधडका, डॉ मुकेश कुमावत नगरी, डॉ राकेश पाटीदार शामगढ तथा डॉ नवीन मंडलोई संजीत, डॉ बी.एस. भाटी नाहरगढ, डॉ जगदीश गेहलोत कयामपुर , डॉ चंद्रशेखर शाक्‍य - भावगढ, डॉ नेहा मेहरा अमलावद, डॉ बी.के. वर्मा मेलखेडा, डॉ बी.एल. सिसौदिया संधारा, डॉ आसिफ खान पि‍पल्‍यामंडी, डॉ पुजा राठौर गांधीसागर नं.3, इन फिवर क्‍लीनिक पर सर्दी, खांसी, गले में दर्द, बुखार व सांस की तकलीफ (ILI, SARI) के मरीजों की जॉच की जा रही है, इन संस्‍थाओं का समय प्रात: 9.00 बजे से सायंकाल 04.00 बजे तक रहेगा। मुख्‍य चिकित्‍सा एवं स्‍वास्‍थ्‍य अधिकारी डॉ महेश मालवीय ने बताया कि फीवर क्‍लीनिक पर SARI के 6, सर्दी, खांसी, बुखार ( ILI) के 1230, शुगर के 106, ब्‍लड प्रेशर 136, सांस की बीमारी 8, हदय रोग के 14, अन्‍य मरीज 1121 का परीक्षण किया गया। परीक्षण के बाद 724 मरीजों को होम आईसोलेशन किया, 162 मरीजों के सेम्‍पल लिये गये, रेफर किये गये मरीज 162, कुल मरीज 2621 का परीक्षण के पश्‍चात उन्‍हें दवाईयॉ एवं आवश्‍यक परामर्श दिया गया


Popular posts
आंसू" जता देते है, "दर्द" कैसा है?* *"बेरूखी" बता देती है, "हमदर्द" कैसा है?*
मध्यप्रदेश के मेघनगर (झाबुआ) में मिट्टी से प्रेशर कुकर बन रहे है
Image
ग्रामीण आजीविका मिशन मे भ्रष्टाचार की फिर खुली पोल, प्रशिक्षण के नाम पर हुआ घोटाला, एनसीएल सीएसआर मद से मिले 12 लाख डकारे
Image
कान्हावाड़ी में बनेगी अनूठी नक्षत्र वाटिका, पूर्वजों की याद में लगायेंगे पौधे* *सांसद डीडी उइके एवं सामाजिक कार्यकर्ता मोहन नागर ने कान्हावाड़ी पहुँचकर किया स्थल निरीक्षण
Image
भगवान पार ब्रह्म परमेश्वर,"राम" को छोड़ कर या राम नाम को छोड़ कर किसी अन्य की शरण जाता हैं, वो मानो कि, जड़ को नहीं बल्कि उसकी शाखाओं को,पतो को सींचता हैं, । 
Image