करोंद मंडी में सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन करते हुए किसानों से गेहूं नीलामी का कार्य प्रारंभ किया गया - कलेक्टर


भोपाल/ करोंद मंडी में आज सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन करते हुए किसानों से गेहूं नीलामी का कार्य प्रारंभ किया गया। कलेक्टर श्री तरुण कुमार पिथोड़े ने सभी सम्बंधित अधिकारियों को निर्देशित किया की सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन और नीलामी कार्य में किसी भी प्रकार की कोताही नहीं बरती जाए। साथ ही प्रत्येक दिन केंद्रों पर की जा रही नीलामी की सतत मॉनिटरिंग सुनिश्चित की जाए। सभी किसानों को भोजन, पीने के पानी और अन्य व्यवस्था की जाए। सभी किसानों का स्वास्थ परीक्षण कराया जाए। स्क्रीनिंग करने के बाद ही किसानों को फसल को बेचने के लिए रखा जाए। सोशल डिस्टेंश का पालन कराते हुए करोंद मंडी में नीलामी का काम कराया जा रहा है। कलेक्टर ने सभी नीलामी केंद्र पर किसानों की सुविधा के लिए परेशानियों को दूर करते सहित नीलामी केंद्रों पर सामाजिक दूरी बनाए रखने का किसानो से आग्रह किया। उन्होंने कहा कि इस संकटकालीन परिस्थिति में भी नीलामी केंद्रों पर नीलामी प्रक्रिया प्रारंभ की गई है, इस और विशेष सावधानी रखते हुए आगे की कार्यवाही सुनिश्चित की जाए। उन्होंने कहा की केंद्रों पर एसएमएस के माध्यम से ही इन केंद्रों पर किसानों को बुलाया जाये। आज मंडी में बुलाये गए श्री कैलाश योगी, विनोद योगी योगेश योगी, मनीष योगी ग्राम तारा सेवनियां, नरेश यादव याम पिपलिया अहिरवार, लोकेश कुशवाहा याम गुनगा, विष्णु यादव याम रतनलाल खजूरी, संजय मीणा ग्राम चंदू खेड़ी, राजेश लबाना याम शेखपुरा और लखन केसली ग्राम बालम पुरा को आज एसएमएस के माध्यम से सूचना दी गई थी जो गेहूं की नीलामी में शामिल हुए। ___ कलेक्टर ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि नीलामी केंद्र पर एसएमएस के माध्यम से ही किसानों को बुलाया जाए और उनसे खरीदी का कार्य सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए सुचारू रूप से कराया जाये।


Popular posts
ग्रामीण आजीविका मिशन मे भ्रष्टाचार की फिर खुली पोल, प्रशिक्षण के नाम पर हुआ घोटाला, एनसीएल सीएसआर मद से मिले 12 लाख डकारे
Image
कान्हावाड़ी में बनेगी अनूठी नक्षत्र वाटिका, पूर्वजों की याद में लगायेंगे पौधे* *सांसद डीडी उइके एवं सामाजिक कार्यकर्ता मोहन नागर ने कान्हावाड़ी पहुँचकर किया स्थल निरीक्षण
Image
आंसू" जता देते है, "दर्द" कैसा है?* *"बेरूखी" बता देती है, "हमदर्द" कैसा है?*
अगर आप दुख पर ध्यान देंगे तो हमेशा दुखी रहेंगे और सुख पर ध्यान देंगे तो हमेशा सुखी रहेंगे
Image
भगवान पार ब्रह्म परमेश्वर,"राम" को छोड़ कर या राम नाम को छोड़ कर किसी अन्य की शरण जाता हैं, वो मानो कि, जड़ को नहीं बल्कि उसकी शाखाओं को,पतो को सींचता हैं, । 
Image