खबरों में सुना,पढ़ा और देखा जा रहा है कि 3 से 5 जून के मध्य होने वाला शिवराज मंत्रिमंडल के दूसरे गठन पर काले बादल मंडरा गए हैं! के के मिश्रा

*खबरों में सुना,पढ़ा और देखा जा रहा है कि 3 से 5 जून के मध्य होने वाला शिवराज मंत्रिमंडल के दूसरे गठन पर काले बादल मंडरा गए हैं! वजह लॉक डाउन के बाद की बताई जा रही है, किन्तु हकीकत इससे इतर है। भाजपा के अंदरखाने में ही इस बात की चर्चा  हो रही है कि उसके द्वारा कांग्रेस से आयातित पनौती से भाजपा जहां ब्लैकमेलिंग की शिकार हो रही है, वहीं भाजपाई मौजूदा पनौती के समर्थकों का पार्टी के वरिष्ठ विधायकों व नेताओं द्वारा सीधा विरोध खुलकर सामने आ  गया है!! सत्ता की दाढ़ में लगे खून के आगे अनुशासन के  सारे पाठ बोथरे व बेअसर साबित हो रहे हैं।*
        *कुल मिलाकर यह कहना ही प्रासंगिक होगा कि "जहां-जहां पैर पड़े "श्रीअंतो" के,वहां-वहां बंटाधार"....वैसे भी शिवराज सरकार अधिक दिनों की मेहमान नहीं है, 24 उपचुनाव  परिणामों के बाद एक बार फिर राज्य की प्रगति,विकास की दूरदृष्टि व सकारात्मक सोच रखने वाले माननीय कमलनाथ जी मुख्यमंत्री पद पर पुनः आसीन होंगे, यह बात मैं बिना किसी लाग लपेट के कह रहा हूं, यह अवाम की आवाज़ है।*    
          


Popular posts
सरकारी माफिया / म. प्र. भोज मुक्त विश्वविद्यालय बना आर्थिक गबन और भ्रष्टाचार का अड्डा* **राजभवन सचिवालय के अधिकारियों की कार्य प्रणाली संदेह के घेरे में** *कांग्रेसी मूल पृष्ठ भूमि के कुलपति डॉ जयंत सोनवलकर अब राज्यपाल आर एस एस का संरक्षण बताकर कर रहे है खुलकर भ्रष्टाचार*
आंसू" जता देते है, "दर्द" कैसा है?* *"बेरूखी" बता देती है, "हमदर्द" कैसा है?*
पाढर अस्पताल में अब होगा आयुष्मान मरीजों का उपचार, पाढ़र अस्पताल का हुआ अनुबंध :- आशीष पेंढारकर 
Image
लेखन सामग्री क्रय करने हेतु पंजीकृत सप्लायर्स से निविदाएं आमंत्रित
पाकिस्तानी पायलटों को अचानक बैन करने लगे कई देश
Image