मजबूर मजदूर पैदल व साइकिल से कर रहे हैं अपने घर की ओर रूख*,  *20 मजदूर सूरत से उत्तर प्रदेश बांदा 21 मजदूर साईकीलो से लखनऊ के लिए निकले*,  *मजदूरों ने बताई अपनी कहानी*     

*मजबूर मजदूर पैदल व साइकिल से कर रहे हैं अपने घर की ओर रूख*, 
*20 मजदूर सूरत से उत्तर प्रदेश बांदा 21 मजदूर साईकीलो से लखनऊ के लिए निकले*, 
*मजदूरों ने बताई अपनी कहानी*    
*सुनील जोशी*    
                           
*जोबट* । कोरोना के चलते पूरे देश में लॉक डाउनलोड से जहां सारे कारोबार बंद पड़े हैं वहीं रोजमर्रा की मजदूरी करने वाले मजदूर अब भगवान भरोसे भूखे प्यासे पैदल ही अपने आशियाने की ओर चल पड़े। सूरत से निकले साड़ी निर्माण की फैक्ट्री में काम करने वाले उत्तर प्रदेश के बांदा व लखनऊ के लगभग 40 मजदूर  जो साइकल ऐव पैदल 700 किलोमीटर का सफर तय कर जोबट पहुंचे उन्होंने बताया कि हमें फैक्ट्री मालिक ने ना तो मजदूरी दी और ना खाने की व्यवस्था कि जब हमारा धैर्य टूटने लगा, तो सरकारी तंत्र व सरकार के भरोसे के बजाय हम लोगों ने पैदल चलकर ही अपने गांव जाने की ठानी मजदूर शंकर राव ने बताया कि नंगे पैर चलकर लगभग सूरत से 400 किलोमीटर का सफर तय किया है,हमारे पैरों में छाले पड़ गए हैं अभी हमें इससे दुगना  और चलना है वहीं साइकलो से निकले अमर लाल ने बताया कि शासन स्तर पर मजदूरों को कोई सुविधा नहीं मिल रही केवल आश्वासन मिला कि मजदूरों को घर भेजे जा रहे हैं हमें निराशा हाथ लगी वही हमने साइकिल खरीद कर घर जाने के लिए निकले हैं ।वही ओमप्रकाश का कहना है कि अलीराजपुर में एक नेता जी मिले थे उनका कहना है कि एक समय हमने भोजन करवा दिया इसके अलावा और ज्यादा मदद नहीं कर सकते उन्होंने हमें हमारे हाल पर छोड़ दिया जब मजदूरों के जोबट आने की सूचना तहसीलदार सस्तिया को मिली तो उन्होंने मजदूरों के हाल जाने वही शुभम मित्र मंडल ने मजदूरों की भोजन की व्यवस्था की  ।
वही जोबट तहसीलदार कैलाश सस्तिया का कहना है कि एक मित्र मंडल ने इनके भोजन की व्यवस्था की है वही किसी वाहन से इनको अपनी सीमा तक छुड़वा देंगे


Popular posts
ग्रामीण आजीविका मिशन मे भ्रष्टाचार की फिर खुली पोल, प्रशिक्षण के नाम पर हुआ घोटाला, एनसीएल सीएसआर मद से मिले 12 लाख डकारे
Image
बैतूल पाढर चौकी के ग्राम उमरवानी में जुआ रेड पर जबरदस्त कार्यवाही की गई
Image
मोहम्मद शमी ने कहा, निजी और प्रोफेशनल मसलों की वजह से 'तीन बार आत्महत्या करने के बारे में सोचा'
Image
दैनिक रोजगार के पल परिवार की तरफ से समस्त भारतवासियों को दीपावली पर्व की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं
Image
मामला लगभग 45 लाख की ऋण राशि का है प्राथमिक कृषि सेवा सहकारी समिति मर्यादित चोपना के लापरवाही का नतीजा भुगत रहे हैं गरीब किसान