प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी का कोरोना संकट से उबरने के लिए ऐलान: हम सबसे अच्छे स्वदेशी उत्पाद बनाकर आत्म निर्भर बनेंगे?*       *"यानी मेक इन इंडिया फ़्लाफ़!"....भक्त प्रसन्न हैं, - के के मिश्रा

*प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी का कोरोना संकट से उबरने के लिए ऐलान: (1)हम सबसे अच्छे स्वदेशी उत्पाद बनाकर आत्म निर्भर बनेंगे?*
      *"यानी मेक इन इंडिया फ़्लाफ़!"....भक्त प्रसन्न हैं,प्रधानमंत्री ने चीन को चेलेंज दिया है!भक्तों हम "परमाणु शक्ति" होने के बाद भी प्रतिदिन अपने सैनिकों की शहीदी के दर्शन कर रहे हैं,उसके "कीटाणु" ने दुनिया हिला दी है! हिम्मत है तो नाम लेकर बोलते?*
*(2)स्वदेशी उत्पाद बनाकर आत्मनिर्भर होने के बाद प्रधानमंत्री जी,आपके 100 प्रतिशत एफडीआई ने निर्णय का क्या होगा,स्मरण रहे अर्थशास्त्री डॉ. मनमोहनसिंह की सरकार के दौरान 49 प्रतिशत एफडीआई का आरएसएस सहित आपने घोर विरोध किया था?*


  *(3)आपके द्वारा "आत्मनिर्भर भारत अभियान"लेकर 20 लाख करोड़ रु.का  "विशेष आर्थिक पैकेज" घोषित किया है,जिसका आने वाले दिनों में ब्यौरा अब वित्तमंत्री देंगी!! लॉक डाउन के चौथे चरण का स्वरूप क्या होगा,यह 18 मई,2020 के पहले बताया जाएगा, तो कल राष्ट्र को इस संक्रमण के दौर में दर्शन देने आप क्यों पधारे?*
  *(4)प्रधानमंत्री जी,तात्कालिक तौर पर कोरोना कहर का दंश झेल रहे राष्ट्रवासियों के लिए 20 लाख करोड़ का आर्थिक पैकेज मानसिक राहत पहुंचा सकता है,किन्तु एक ऐसा ही 1.25 लाख करोड़ रु.का विशेष पैकेज वर्ष-2015 में चुनाव के दौरान बिहार के लिए भी घोषित किया था,जो आज तक दिखाई नहीं दिया? (VDO संलग्न)*
    *प्रधानमंत्री जी,ऐसे कथित "आत्मनिर्भर अभियानों की शाब्दिक जुगालियाँ फौरी तौर पर ठीक लग सकती हैं,पर राष्ट्रवासियों को "मूर्ख बनाने का अभियान" बंद होना चाहिए। " देश अर्थशास्त्री से लाभान्वित होगा...व्यर्थशास्त्री से नहीं.?"*


        


Popular posts
कोरोना के एक वर्ष पूरे आज ही के दिन चीन में कोरोना का पहला केस मिला था
Image
ग्राम बादलपुर में धान खरीदी केंद्र खुलवाने के लिये बैतूल हरदा सांसद महोदय श्री दुर्गादास उईके जी से चर्चा करते हुए दैनिक रोजगार के पल के प्रधान संपादक दिनेश साहू
Image
मध्यप्रदेश के मेघनगर (झाबुआ) में मिट्टी से प्रेशर कुकर बन रहे है
Image
बैतूल पाढर चौकी के ग्राम उमरवानी में जुआ रेड पर जबरदस्त कार्यवाही की गई
Image
तुम भी अपना ख्याल रखना, मैं भी मुस्कुराऊंगी। इस बार जून के महीने में मां, मैं मायके नहीं आ पाऊंगी ( श्रीमती कामिनी परिहार - धार / मध्यप्रदेश)
Image