वर्षा ऋतु को दृष्टिगत रखते हुए बाढ़ एवं अतिवृष्टि से निपटने के लिए सभी तैयारियाँ सुनिश्चित करें - कलेक्टर


हरदा। आगामी वर्षा ऋतु को दृष्टिगत रखते हुए जिला आपदा प्रबंधन समिति की बैठक कलेक्टर श्री अनुराग वर्मा की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित की गई। बैठक में कलेक्टर श्री वर्मा ने सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि वे बाढ़ एवं अतिवृष्टि की स्थिति से निपटने के लिए सभी तैयारियाँ समय से पूर्व सुनिश्चित कर लें। उन्होंने सभी मुख्य नगरपालिका अधिकारियों एवं सीईओ जनपद को निर्देशित किया कि वे अपने क्षेत्रों में नालों एवं नालियों की सफाई 10 जून तक करवाना सुनिश्चित करें। अच्छी तरह सफाई करवाएं ताकि पानी निकासी के मार्ग में रुकावट न आए। सभी सीएमओ अपने निकायों में जलभराव वाले क्षेत्रों से पानी निकासी की व्यवस्था करवाएं। उन्होंने स्टेशन प्रबंधक को निर्देशित किया कि जिले की सीमाओं के अंतर्गत रेलवे के सभी पुलों का पुनः सर्वे करवाकर ओके रिपोर्ट प्रस्तुत करें। उन्होंने डीपीसी एवं जिला शिक्षा अधिकारी को स्कूलों में राहत शिविर बनाने की तैयारियां करने के निर्देश दिए। कलेक्टर श्री वर्मा ने सभी एसडीएम को निर्देशित किया कि वे अपने क्षेत्रों में बाढ़ से निपटने के लिए सभी आवश्यक संसाधनों को सूचीबद्ध कर तैयार रखें। प्राइवेट संसाधनों की जानकारी भी उपलब्ध रखें। उन्होंने गत वर्ष जिला जेल में जलभराव के संबंध में चर्चा करते हुए कहा कि अत्यधिक बारिश होने की स्थिति में बंदियों को शिफ्ट करने की नौबत भी आ सकती है। एसडीएम हरदा एवं जेल अधीक्षक इसके लिए एक उपयुक्त स्थान का चयन कर लें। कलेक्टर श्री वर्मा ने जिले में स्थित छोटे बांधों के संबंध में जानकारी प्राप्त की। कार्यपालन यंत्री जल संसाधन विभाग ने बताया कि खिरकिया में इमली ढाना, आमाखाल तथा जामुनिया में छोटे बांध है जिनका सर्वेक्षण कर लिया गया है। कलेक्टर श्री वर्मा ने बांध के ओवरफ्लो की स्थिति के लिए बने ड्रेनेज सिस्टम का पुनः अवलोकन करने के निर्देश दिए। उन्होंने बिना अनुमति बैठक में अनुपस्थित रहने पर कार्यपालन यंत्री पीडब्ल्यूडी को नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री मनीष अग्रवाल ने कहा कि आपदा के समय में आपसी तालमेल एवं कम्युनिकेशन बेहद ज़रूरी है। उन्होंने अपर कलेक्टर डॉ प्रियंका गोयल एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री गजेंद्र वर्धमान को निर्देशित किया कि वे आपदा के लिए एक एसओपी तैयार करें जिसमें हर व्यक्ति की जिम्मेदारी अच्छी तरह बताई गई हो। जिला पंचायत सीईओ श्री दिलीप यादव द्वारा ग्राम पंचायतों में सफाई करवाने के निर्देश दिए।अपर कलेक्टर डॉ गोयल ने कहा कि इस वर्ष कोरोना संक्रमण को देखते हुए राहत शिविरों में भी सोशल डिस्टेंसिंग को देखते हुए व्यवस्थाएं करनी होगी।


Popular posts
आंसू" जता देते है, "दर्द" कैसा है?* *"बेरूखी" बता देती है, "हमदर्द" कैसा है?*
मध्यप्रदेश के मेघनगर (झाबुआ) में मिट्टी से प्रेशर कुकर बन रहे है
Image
ग्रामीण आजीविका मिशन मे भ्रष्टाचार की फिर खुली पोल, प्रशिक्षण के नाम पर हुआ घोटाला, एनसीएल सीएसआर मद से मिले 12 लाख डकारे
Image
कान्हावाड़ी में बनेगी अनूठी नक्षत्र वाटिका, पूर्वजों की याद में लगायेंगे पौधे* *सांसद डीडी उइके एवं सामाजिक कार्यकर्ता मोहन नागर ने कान्हावाड़ी पहुँचकर किया स्थल निरीक्षण
Image
भगवान पार ब्रह्म परमेश्वर,"राम" को छोड़ कर या राम नाम को छोड़ कर किसी अन्य की शरण जाता हैं, वो मानो कि, जड़ को नहीं बल्कि उसकी शाखाओं को,पतो को सींचता हैं, । 
Image