चूहा अगर पत्थर का हो तो* सब उसे पूजते हैं* मगर जिन्दा हो तो मारे बिना* चैन नहीं लेते हैं*

. *चूहा अगर पत्थर का हो तो*


*सब उसे पूजते हैं* ¶


*मगर जिन्दा हो तो मारे बिना*


*चैन नहीं लेते हैं* ¶


*साँप अगर पत्थर का हो*


*तो सब उसे पूजते हैं* ¶


*मगर जिन्दा हो तो उसी वक़्त*


*मार देते हैं* ¶


*माँ बाप अगर "तस्वीरों" में हो*


*तो सब पूजते हैं* ¶


*मगर जिन्दा है तो कीमत नहीं*


*समझते"* ¶


*बस यही समझ नहीं आता के*


*ज़िन्दगी से इतनी नफरत क्यों* ¶


*और* ¶


*पत्थरों से इतनी मोहब्बत क्यों* ¶


*जिस तरह लोग मुर्दे इंसान को*


*कंधा देना पुण्य समझते हैं​* ¶


*काश" इस तरह' ज़िन्दा" इंसान*


*को सहारा देंना पुण्य समझने*


*लगे तो ज़िन्दगी आसान हो*


*जायेगी​* ¶ *


Popular posts
अगर आप दुख पर ध्यान देंगे तो हमेशा दुखी रहेंगे और सुख पर ध्यान देंगे तो हमेशा सुखी रहेंगे
Image
भगवान पार ब्रह्म परमेश्वर,"राम" को छोड़ कर या राम नाम को छोड़ कर किसी अन्य की शरण जाता हैं, वो मानो कि, जड़ को नहीं बल्कि उसकी शाखाओं को,पतो को सींचता हैं, । 
Image
अग्रवाल समाज की भामाशाही परंपरा
रायसेन में डॉ राधाकृष्णन हायर सेकंडरी स्कूल के पास मछली और चिकन के दुकान से होती है गंदगी नगर पालिका प्रशासन को सूचना देने के बाद भी नहीं हुई कोई कार्यवाही
नगर पालिका परिषद पचमढ़ी के कांग्रेस के सभी पार्षदों के मांग पर कैंट बोर्ड जरूरतमंद परिवार को वितरित करेगा किराना सामान
Image