चूहा अगर पत्थर का हो तो* सब उसे पूजते हैं* मगर जिन्दा हो तो मारे बिना* चैन नहीं लेते हैं*

. *चूहा अगर पत्थर का हो तो*


*सब उसे पूजते हैं* ¶


*मगर जिन्दा हो तो मारे बिना*


*चैन नहीं लेते हैं* ¶


*साँप अगर पत्थर का हो*


*तो सब उसे पूजते हैं* ¶


*मगर जिन्दा हो तो उसी वक़्त*


*मार देते हैं* ¶


*माँ बाप अगर "तस्वीरों" में हो*


*तो सब पूजते हैं* ¶


*मगर जिन्दा है तो कीमत नहीं*


*समझते"* ¶


*बस यही समझ नहीं आता के*


*ज़िन्दगी से इतनी नफरत क्यों* ¶


*और* ¶


*पत्थरों से इतनी मोहब्बत क्यों* ¶


*जिस तरह लोग मुर्दे इंसान को*


*कंधा देना पुण्य समझते हैं​* ¶


*काश" इस तरह' ज़िन्दा" इंसान*


*को सहारा देंना पुण्य समझने*


*लगे तो ज़िन्दगी आसान हो*


*जायेगी​* ¶ *


Popular posts
माँ कर्मा देवी जयंती की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं- दिनेश साहू प्रवक्ता मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी
Image
शत्रु ये अदृश्य है विनाश इसका लक्ष्य है - शरद गुप्ता /इंस्पेक्टर मुम्बई पुलिस
Image
बैतूल पाढर चौकी के ग्राम उमरवानी में जुआ रेड पर जबरदस्त कार्यवाही की गई
Image
एक ऐसी महान सख्सियत की जयंती हैं जिन्हें हम शिक्षा के अग्रदूत नाम से जानते हैं ।वो न केवल शिक्षा शास्त्री, महान समाज सुधारक, स्त्री शिक्षा के प्रणेता होने के साथ साथ एक मानवतावादी बहुजन विचारक थे। - भगवान जावरे
Image
वेतन वृद्धि को एरियर्स सहित जून माह के वेतन के साथ दी जाए