आतंक का अंत सुनिश्चित है- के के मिश्रा,


आतंक का अंत सुनिश्चित है,यह न्याय मृत्यु लोकाधिपति बाबा महाकाल का है,अब वे चेहरे बेनकाब हों, जिनके गठजोड़ से विकास बे मप्र की सीमा से प्रवेश कर बाबा महाकाल की चौखट तक पहुंचा, पूरी पटकथा के किरदार कौन-कौन है? समूचे घटना की न्यायिक जांच हो।


Popular posts
अगर आप दुख पर ध्यान देंगे तो हमेशा दुखी रहेंगे और सुख पर ध्यान देंगे तो हमेशा सुखी रहेंगे
Image
ग्रामीण आजीविका मिशन मे भ्रष्टाचार की फिर खुली पोल, प्रशिक्षण के नाम पर हुआ घोटाला, एनसीएल सीएसआर मद से मिले 12 लाख डकारे
Image
आंसू" जता देते है, "दर्द" कैसा है?* *"बेरूखी" बता देती है, "हमदर्द" कैसा है?*
ग्राम बादलपुर में धान खरीदी केंद्र खुलवाने के लिये बैतूल हरदा सांसद महोदय श्री दुर्गादास उईके जी से चर्चा करते हुए दैनिक रोजगार के पल के प्रधान संपादक दिनेश साहू
Image
लॉक डाउन और धारा 144 का पालन नहीं करने पर कार्यवाही की मांग :- आम आदमी पार्टी