एक व्यंग हैं पसंद आये तो एक स्माइल दीजियेगा


(डॉ. एस.एन. नागर - सह संपादक)


!! यह नदियों का मुल्क है


पानी भी भरपूर है


बोतल में बिकता है।


बीस रू शुल्क है


!! यह गरीबों का मुल्क है


जनसंख्या भी भरपूर है।


परिवार नियोजन मानते नहीं


नसबन्दी नि:शुल्क है


!! यह अजीब मुल्क है


निर्बलों पर हर शुल्क है


अगर आप हों बाहुबली


हर सुविधा नि:शुल्क है।


!! यह अपना ही मुल्क है


कर कुछ सकते नहीं।


कह कुछ सकते नहीं


!! यह शादियों का मुल्क है


दान दहेज भी खूब हैं।


शादी करने को पैसा नहीं


कोर्ट मैरिज नि:शुल्क हैं।


!! यह पर्यटन का मुल्क है


रेलें भी खूब हैं।


बिना टिकट पकड़े गए तो


रोटी कपड़ा नि:शुल्क है।


!! यह अजीब मुल्क है


हर जरूरत पर शुल्क है।


ढूंढ कर देते हैं लोग


!! यह आवाम का मुल्क है


रहकर चुनने का हक है।


वोट देने जाते नहीं


मतदान नि:शुल्क है।


!! बेचारा आदमी:


जब सर के बाल न आये तो दवाई ढूँढता है..


जब आ जाते है तो नाई ढूँढता है..


जब सफ़ेद हो जाते है तो क्तई ढूँढता है...!


और जब काले रहते हैं तो लुगाई ढूँढता है ।


 


 


 


Popular posts
अगर आप दुख पर ध्यान देंगे तो हमेशा दुखी रहेंगे और सुख पर ध्यान देंगे तो हमेशा सुखी रहेंगे
Image
मध्यप्रदेश के मेघनगर (झाबुआ) में मिट्टी से प्रेशर कुकर बन रहे है
Image
भगवान पार ब्रह्म परमेश्वर,"राम" को छोड़ कर या राम नाम को छोड़ कर किसी अन्य की शरण जाता हैं, वो मानो कि, जड़ को नहीं बल्कि उसकी शाखाओं को,पतो को सींचता हैं, । 
Image
कान्हावाड़ी में बनेगी अनूठी नक्षत्र वाटिका, पूर्वजों की याद में लगायेंगे पौधे* *सांसद डीडी उइके एवं सामाजिक कार्यकर्ता मोहन नागर ने कान्हावाड़ी पहुँचकर किया स्थल निरीक्षण
Image
बैतूल पाढर चौकी के ग्राम उमरवानी में जुआ रेड पर जबरदस्त कार्यवाही की गई
Image