निजी कंपनीया घाटे मे रेल चलायेगी? - कल्पना बर्मन

निजी कंपनीया घाटे मे रेल चलायेगी?रेल निजीकरण के पीछे उद्देश्य है की सरकार के बोझ को कम करना चाहती है तो जो निजी कंपनीया संचालन करेंगी वो घाटे मे चलायेंगे ?



कहते है की प्रतिस्पर्द्धा को बढ़ावा देना तो निजी कंपनी को संचालन करने देगी वो अपना मुनाफा निकाले बिना बोली लगायेगी ?सार्वजानिक वित्त में सुधार कीस आधार पर होगा ?जनता से ट्रेन की टिकट के दाम ज्यादा वसूली करने से या निजी संचालक को से बोली लगाने मे ज्यादा वसूली करके ?बात गुणवत्ता में सुधार करने की है तो जो गुणवत्ता सरकार नसुधार पाई उसे निजी संचालक कैसे सुधारेगे ?* *जनता से ज्यादा वसूली करके या कम बोली लगा कर ?* *जिन निजी संचालको को ट्रेनो और स्टेशन की बिक्री किये है वो कंपनीयों से देश के अन्य क्षेत्रो मे से ट्रेन चलेगी वो रेल की मरम्मत और आड्मिनिस्ट्रेशन ख़र्च कैसे वसूली किया जायेगा ?अब कहा छुपे है CAG वाले?


Popular posts
आदिवासी स्वतंत्रता संग्राम सेनानी श्री गंजन सिंग के जयंती पर सम्मान समारोह एवं वक्षारोपण संपन्न सम्मान पन्न
Image
भगवान पार ब्रह्म परमेश्वर,"राम" को छोड़ कर या राम नाम को छोड़ कर किसी अन्य की शरण जाता हैं, वो मानो कि, जड़ को नहीं बल्कि उसकी शाखाओं को,पतो को सींचता हैं, । 
Image
कान्हावाड़ी में बनेगी अनूठी नक्षत्र वाटिका, पूर्वजों की याद में लगायेंगे पौधे* *सांसद डीडी उइके एवं सामाजिक कार्यकर्ता मोहन नागर ने कान्हावाड़ी पहुँचकर किया स्थल निरीक्षण
Image
ग्रामीण आजीविका मिशन मे भ्रष्टाचार की फिर खुली पोल, प्रशिक्षण के नाम पर हुआ घोटाला, एनसीएल सीएसआर मद से मिले 12 लाख डकारे
Image
18 दिन के महाभारत युद्ध ने* *द्रौपदी की उम्र को* *80 वर्ष जैसा कर दिया था...*
Image