फिर भी न जाने क्यूं पिता पीछे रह जाता है - संजय पवार


फिर भी न जाने क्यूं पिता पीछे रह जाता है


माँ नौ महीने पाल्ती है


पिता 25 साल पालता है


माँ बिना तानख्वाह घर का सारा काम करती है


पिता पूरी कमाई घर पे लुटा देता है


फिर भी न जाने क्यूं पिता पीछे रह जाता है 


माँ ! जो चाहते हो वो बनाती है


पिता ! जो चाहते हो वो ला के देता है


फिर भी न जाने क्यूं पिता पीछे रह जाता है


माँ ! को याद करते हो जब चोट लगती है


पिता ! को याद करते हो जब ज़रुरत पड़ती है


फिर भी न जाने क्यूं पिता पीछे रह जाता है


माँ की ओर बच्चो की अलमारी नये कपड़े से भरी है


पिता कई सालो तक पुराने कपड़े चलाता है


फिर भी न जाने क्यूं पिता पीछे रह जाता है


पिता अपनी ज़रुरते टाल कर सबकी ज़रुरते समय से पुरी करता है


किसी को उनकी ज़रुरते टालने को नहीं कहता


फिर भी न जाने क्यूं पिता पीछे रह जाता


है दिल से


Popular posts
ग्रामीण आजीविका मिशन मे भ्रष्टाचार की फिर खुली पोल, प्रशिक्षण के नाम पर हुआ घोटाला, एनसीएल सीएसआर मद से मिले 12 लाख डकारे
Image
बैतूल पाढर चौकी के ग्राम उमरवानी में जुआ रेड पर जबरदस्त कार्यवाही की गई
Image
मोहम्मद शमी ने कहा, निजी और प्रोफेशनल मसलों की वजह से 'तीन बार आत्महत्या करने के बारे में सोचा'
Image
दैनिक रोजगार के पल परिवार की तरफ से समस्त भारतवासियों को दीपावली पर्व की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं
Image
मामला लगभग 45 लाख की ऋण राशि का है प्राथमिक कृषि सेवा सहकारी समिति मर्यादित चोपना के लापरवाही का नतीजा भुगत रहे हैं गरीब किसान