-" मैं तेरे दर पे आया हूँ झोली भरके जाऊंगा,या कुछ करके जाऊंगा"

अपने सम्मान(?) के लिए कांग्रेस छोड़ने वाले सिंधिया कल BJP महासचिव महासचिव कैलाश जी के घर गए,न वे मिले न सम्मान अपमानित सिंधिया सिंधया समर्थकों ने विजयवर्गीय के घर के शीशे तोड़ डाले! महाराजएशायद महाराजएशायद मंशा यही थी