ऐसे भी होते हैं पुलिसवाले -* महिला एसआई ने कचरे में मिली नवजात को स्तनपान कराया दैनिक रोजगार के पल ऐसे महिला पुलिस अफसर को सलाम करता है

 पास में खड़ी महिलाओं ने उसे हाथ तक नहीं लगाया गुरुवार को इंदौर-महू रोड पर डिसेंट कॉलोनी के समीप कचरे के ढेर में दो दिन की नवजात बालिका मिली।



सूचना मिलते ही पुलिस वहां पहुंची। आरक्षक सुभाष और एसआई अनिला पाराशर ने बच्ची को कचरे से निकाला और बेहद सावधानी के साथ अस्पताल पहुंचाया। बच्ची के साथ अस्पताल पहुंची एसआई अनिला पाराशर ने आस पास खड़ी महिलाओं से उसे दूध पिलाने का अनुरोध किया। इस पर कोई उस बच्ची को हाथ तक लगाने को तैयार नहीं हुआ। अनिला खुद एक साल के बच्चे की मां है और उन्होंने बिना देर किए बच्ची को स्तनपान कराया। शुक्रवार को जब बच्ची को अस्पताल से इंदौर के चाइल्ड लाइन द्वारा संचालित छाया केंद्र पर लाया गया तब भी अनिला ने ही उसकी मां की भूमिका निभाई। घटना बहुत छोटी सी है लेकिन इससे हमें यह भी पता चलता है कि पेशा कोई भी हो *किसी का अच्छा या बुरा होना उसके व्यक्तित्व पर निर्भर करता है।* जरूरी नहीं कि हर पुलिसवाला बुरा ही होता है या फिर हर साधु-संत अच्छा ही होता है। :)


Popular posts
बैतूल पाढर चौकी के ग्राम उमरवानी में जुआ रेड पर जबरदस्त कार्यवाही की गई
Image
जांच के इंतजार में आर ई एस तालाब सलैया
सरकारी माफिया / म. प्र. भोज मुक्त विश्वविद्यालय बना आर्थिक गबन और भ्रष्टाचार का अड्डा* **राजभवन सचिवालय के अधिकारियों की कार्य प्रणाली संदेह के घेरे में** *कांग्रेसी मूल पृष्ठ भूमि के कुलपति डॉ जयंत सोनवलकर अब राज्यपाल आर एस एस का संरक्षण बताकर कर रहे है खुलकर भ्रष्टाचार*
रायसेन में डॉ राधाकृष्णन हायर सेकंडरी स्कूल के पास मछली और चिकन के दुकान से होती है गंदगी नगर पालिका प्रशासन को सूचना देने के बाद भी नहीं हुई कोई कार्यवाही
बीती देर रात सांसद दुर्गादास उईके ने ग्राम पिपरी पहुंचकर हादसे में मृतकों के परिजनों से की मुलाकात ।
Image