प्रदेश कांगे्रस अध्यक्ष कमलनाथ जी की भावना अनुसार प्रदेश कांगे्रस  द्वारा जरूरत मंदांे को वितरित किये जा रहे हैं खाने के पैकेट  कोषाध्यक्ष गोविंद गोयल पूरी टीम के साथ रात-दिन जुटे,  जरूरत मंद, गरीबों को भोजन वितरण व्यवस्था में 


प्रदेश कांगे्रस अध्यक्ष कमलनाथ जी की भावना अनुसार प्रदेश कांगे्रस 
द्वारा जरूरत मंदांे को वितरित किये जा रहे हैं खाने के पैकेट 


कोषाध्यक्ष गोविंद गोयल पूरी टीम के साथ रात-दिन जुटे, 
जरूरत मंद, गरीबों को भोजन वितरण व्यवस्था में


भोपाल, 


कोरोना वायरस के फैलते संक्रमण के चलते पूरे प्रदेश में लाॅकडाउन होने के कारण प्रदेशवासियों को विभिन्न विषम परिस्थितियों का सामना करना पड़ रहा है। प्रदेश की गरीब जनता, मजदूर वर्ग एवं आमजनों को खाने के लाले पड़े हुए हैं। हर वर्ग के लोगों को रोजमर्रा की खाद्य सामग्री भी नहीं मिल पा रही है। इस भीषणतम कोरोना बीमारी के चलते सरकार द्वारा लिये गये लाॅकडाउन के निर्णय का पालन करते हुए जरूरतमंद, गरीब, असहाय जनमानस भूखा न रहे इसके लिए उनको प्रदेश कांगे्रस द्वारा हर संभव सहायता प्रदान की जा रही है।
भीषणतम कोरोना बीमारी के चलते प्रदेश कांगे्रस अध्यक्ष श्री कमलनाथ जी की भावना के अनुसार भोपाल और भोपाल के आस-पास जरूरतमंद व्यक्तियों, गरीब वस्तियों के परिवारों को भोजन पहुंचाने का निर्णय लिया गया है। प्रदेश कांगे्रस कमेटी के कोषाध्यक्ष श्री गोविंद गोयल द्वारा प्रदेश कांगे्रस कार्यालय में रात-दिन खाना तैयार कराया जा रहा है। खाने के पैकेट तैयार कराकर भोपाल एवं आस पास के क्षेत्रों मंे कांगे्रस के प्रतिनिधियों द्वारा जरूरत मंद, गरीब परिवारों, आमजनों तक खाना पहुंचाने का कार्य किया जा रहा है। 
वहीं इस कार्य में प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजयसिंह जी एवं उनके कार्यकर्ता भी पूरी मुस्तैदी से जरूरतमंदों को भोजन पहुंचाने में अपने वाहनांे सहित अपना पूरा सहयोग प्रदान कर रहे हैं। 
श्री कमलनाथ का कहना है कि कोई भी जरूरतमंद, गरीब परिवार का एक भी सदस्य भूखा न रहे इस हेतु बीते 28 मार्च को 8 से 10 हजार, 29 मार्च को 18 से 20 हजार तथा 30 मार्च को 25 से 27 हजार खाने के पैकेट, जिसमें पूड़ी, सब्जी, खिचड़ी और नमकीन आदि शामिल है, प्रदेश कांगे्रस द्वारा भोपाल एवं आसपास के क्षेत्र के जरूरत मंद लोगों, गरीब तबके के लोगों तक कांगे्रस पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा पहुंचाकर वितरित कराये गये। श्री गोयल ने बताया कि खाने के पेकेट वितरित किये जाने का कार्य आगे भी निरंतर जारी रहेगा। 
  
       त्री्