प्रदेश में मौजूदा कोरोना संकट में मुस्तैदी से कार्य कर रहे ऐसे अधिकारियों-कर्मचारियों को आगामी तीन माह की संविदा नियुक्ति दी जाएगी, मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने दिये निर्देश


भोपाल : मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में मौजूदा कोरोना संकट में मुस्तैदी से कार्य कर रहे ऐसे अधिकारियों-कर्मचारियों को आगामी तीन माह की संविदा नियुक्ति दी जाएगी, जो 31 मार्च 2020 को सेवानिवृत्त हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि इससे मौजूदा संकट से निपटने में योग्य अधिकारियों और कर्मचारियों की सेवाएँ मिल सकेंगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि संविदा नियुक्ति के लिये वे अधिकारी-कर्मचारी ही पात्र होंगे, जो कोविड-19 के विरुद्ध चलाये जा रहे अभियान में तैनात हैं। तृतीय एवं चतुर्थ श्रेणी के शासकीय कर्मचारियों को उनके जिला प्रमुख और सार्वजनिक उपक्रम के कर्मचारियों को उपक्रम के संचालक द्वार अधिकृत अधिकारी संविदा नियुक्ति दे सकेंगे। नियुक्ति देने के पूर्व वे जिला कलेक्टर से यह प्रमाणित करवाएंगे कि संबंधित कर्मचारी कोविड-19 के विरुद्ध चल रहे अभियान में कार्यरत है तथा उसे संविदा नियुक्ति दिया जाना आवश्यक हैमुख्यमंत्री ने बताया कि द्वितीय श्रेणी के अधिकारियों को संभागीय आयुक्त तीन माह की संविदा नियुक्ति प्रदान कर सकेंगे। उन्हें भी नियुक्ति दिये जाने के पूर्व जिला कलेक्टर से प्रमाणीकरण कराना होगा। द्वितीय श्रेणी के सेवानिवृत्त हो रहे पुलिस अधिकारियों को संविदा नियुक्ति पुलिस महानिरीक्षक के प्रस्ताव पर प्रदान की जाएगी। प्रथम श्रेणी के अधिकारियों के संविदा नियुक्ति के आदेश जिला कलेक्टर के प्रस्ताव पर राज्य-स्तर से जारी होंगे


Popular posts
कुदरत का कहर भी जरूरी था साहब, वरना हर कोई खुद को खुदा समझ रहा था*  - दिनेश साहू
Image
एक रोटी कम खा लेंगे पापा बाहर मत जाओ तुम हो तो हम है
Image
बैतूल पाढर चौकी के ग्राम उमरवानी में जुआ रेड पर जबरदस्त कार्यवाही की गई
Image
मध्यप्रदेश के मेघनगर (झाबुआ) में मिट्टी से प्रेशर कुकर बन रहे है
Image
सरकारी माफिया / म. प्र. भोज मुक्त विश्वविद्यालय बना आर्थिक गबन और भ्रष्टाचार का अड्डा* **राजभवन सचिवालय के अधिकारियों की कार्य प्रणाली संदेह के घेरे में** *कांग्रेसी मूल पृष्ठ भूमि के कुलपति डॉ जयंत सोनवलकर अब राज्यपाल आर एस एस का संरक्षण बताकर कर रहे है खुलकर भ्रष्टाचार*