स्वास्थ्य सुविधाओं के माकूल प्रबंध रहें, लॉक-डाउन व्यवस्था का प्रभावी पालन हो- कलेक्टर


बैतूल। संक्रमण से बचाव के दृष्टिगत जिले में प्रभावशील लॉक-डाउन व्यवस्था के दौरान आमजन को बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराने एवं स्वास्थ्य सुविधाओं के उचित प्रबंध बनाए रखने के दृष्टिगत कलेक्टर श्री राकेश सिंह ने सोमवार को जिले के विभिन्न विभागों के अधिकारियों की बैठक ली। इस दौरान उन्होंने कहा कि जिले में लॉक-डाउन व्यवस्था में कोई ढिलाई न हो, परन्तु इस बात का भी ध्यान रखा जाए कि आमजन को आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता सुचारू बनी रहे। बैठक में सीईओ जिला पंचायत श्री एमएल त्यागी एवं अपर कलेक्टर श्री जेपी सचान भी मौजूद थे। बैठक में कलेक्टर ने सब्जी एवं दूध की डोर-टू-डोर सप्लाई व्यवस्था की जानकारी लेते हुए कहा कि इस बात का भी ध्यान रखा जाए कि उक्त सामग्री लोगों को उचित दरों पर ही मिले। साथ ही सामग्री की गुणवत्ता भी अच्छी हो। कृषि विभाग की समीक्षा के दौरान कलेक्टर ने कहा कि रबी फसल की कटाई में किसानों को किसी तरह की कोई दिक्कत न आए, इस बात के लिए कृषि विभाग पूरी तरह सजग रहे। हार्वेस्टर एवं थैसर की नियमानुसार उपलब्धता रहे। किसानों को कीटनाशक एवं अन्य कृषि आदानों की डोर-टू-डोर उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए भी कृषि विभाग कार्य योजना बनाए। इस दौरान उन्होंने कहा कि दवाइयों की दुकानें खुली रहे एवं आमजन को सुगमता से उपलब्ध हो। जरूरी खाद्य वस्तुओं की भी डोर-टू-डोर सप्लाई सुनिश्चित की जाएचिकित्सा विभाग की समीक्षा के दौरान कलेक्टर ने पशुओं चारा एवं अन्य खाद्य सामग्री की उपलब्धता सुनिश्चित करने के संबंध में उपसंचालक पशु चिकित्सा से चर्चा की। इसके अलावा मेडिकल स्टोर्स से पशुओं की आवश्यक दवाइयों की उपलब्धता बनाए रखने के लिए भी निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि पशुपालकों द्वारा उत्पादित दुग्ध, अण्डा एवं अन्य सामग्री खराब न हो तथा समय पर उपभोक्ताओं को उपलब्ध कराई जा सके, इसके लिए विभाग समुचित कार्ययोजना तैयार करेबैठक में कलेक्टर ने कहा कि जिला स्तर पर स्थापित कॉल सेंटर में प्राप्त हो रही समस्याओं/शिकायतों के उचित संधारण कर निराकरण की व्यवस्था की जाए। कलेक्टर ने मुख्य नगरपालिका अधिकारी से दीनदयाल रसोई से उपलब्ध कराई जा रही भोजन व्यवस्था की भी समीक्षा की। साथ ही कहा कि लॉक डाउन एवं प्रशासन द्वारा समय-समय पर जारी किए जाने वाले अन्य निर्देशों का निरंतर एनाउंसमेंट कराया जाए। इस दौरान उन्होंने जिले में वैकल्पिक क्वारेंटाइन सेंटर तैयार रखने की व्यवस्था की भी समीक्षा की। 


Popular posts
सरकारी माफिया / म. प्र. भोज मुक्त विश्वविद्यालय बना आर्थिक गबन और भ्रष्टाचार का अड्डा* **राजभवन सचिवालय के अधिकारियों की कार्य प्रणाली संदेह के घेरे में** *कांग्रेसी मूल पृष्ठ भूमि के कुलपति डॉ जयंत सोनवलकर अब राज्यपाल आर एस एस का संरक्षण बताकर कर रहे है खुलकर भ्रष्टाचार*
भ्रष्ट एवं गबन करने वाले सचिव बद्रीलाल भाभर पर एफ आई आर दर्ज को सेवा से निष्कासित करे
Image
सहारनपुर ईद जो की सम्भावित 1 अगस्त की हो सकती है उससे पहले एक संदेश की अफ़वाह बड़ी तेज़ी से आम जनता में फैल रही है
शराब के बहुत नुकसान है साथियों सभी दूर रहे तो इसमें समाज और देश की भलाई है - अशोक साहू
Image
Urgent Requirement