भाजपा में प्रचार की भूख , कोरोना की इस महामारी में भी मुख्यमंत्री से लेकर मंत्रीगण खुद के प्रचार प्रसार में लगे हुए हैं , बेहद शर्मनाक : नरेंद्र सलूजा 

 


भाजपा में प्रचार की भूख , कोरोना की इस महामारी में भी मुख्यमंत्री से लेकर मंत्रीगण खुद के प्रचार प्रसार में लगे हुए हैं , बेहद शर्मनाक : नरेंद्र सलूजा


भोपाल, 


मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने बताया कि एक तरफ तो देश में कोरना महामारी का भीषण संकट का दौर चल रहा है , वही इस संकट के दौर में भी मध्यप्रदेश में भाजपा नेताओं की प्रचार प्रसार की भूख समाप्त नहीं हो रही है।
कभी प्रदेश के मुख्यमंत्री कोरोना की इस महामारी में बांटे जाने वाले आयुर्वेदिक चूर्ण पर भी खुद का फोटो लगा लेते हैं , कभी मंत्री गरीबों को बांटने वाले सरकारी राशन पर खुद का फोटो लगा रहे हैं , कभी भाजपा नेता मास्क के ऊपर खुद का फोटो लगा रहे हैं और अब तो हद हो गई प्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल प्रदेश में किसानों की कठिनाइयों के निराकरण हेतु प्रदेश स्तर पर एक सुविधा केंद्र स्थापित करने की घोषणा करते हैं।
बड़ा ही शर्मनाक है कि वे इस सुविधा केंद्र 
का नाम खुद के नाम पर वह अपनी पार्टी भाजपा के चुनाव चिन्ह कमल के नाम पर रखते हुए उसे “ कमल सुविधा केंद्र “ का नाम देते हैं।
   सलूजा ने बताया कि भाजपा के नेताओं की प्रचार प्रसार की भूख समाप्त नहीं हो रही है , वो तो इस महामारी में भी जमकर कोरोना के प्रोटोकॉल का मजाक उड़ाते हुए सोशल डिस्टेंसिंग को भूल फोटो खिंचवाने में लगे हैं ,अपना स्वागत कराने में लगे हैं , जैकेट व मास्क की मैचिंग में लगे हुए हैं।
वहीं दूसरी तरफ प्रदेश में कोरना महामारी से प्रतिदिन मौतें हो रही है , प्रदेश देश में चौथे नंबर पर पहुँच गया है , संक्रमित लोगों व मृत्यु का आंकड़ा प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है , वहीं भाजपा के नेताओं को ऐसे समय में भी खुद के प्रचार प्रसार की भूख लगी हुई है।
कांग्रेस इस नामकरण का विरोध करती है और इसे बदले जाने की माँग करती है।


Popular posts
सरकारी माफिया / म. प्र. भोज मुक्त विश्वविद्यालय बना आर्थिक गबन और भ्रष्टाचार का अड्डा* **राजभवन सचिवालय के अधिकारियों की कार्य प्रणाली संदेह के घेरे में** *कांग्रेसी मूल पृष्ठ भूमि के कुलपति डॉ जयंत सोनवलकर अब राज्यपाल आर एस एस का संरक्षण बताकर कर रहे है खुलकर भ्रष्टाचार*
कोरोना के एक वर्ष पूरे आज ही के दिन चीन में कोरोना का पहला केस मिला था
Image
ग्रामीण आजीविका मिशन मे भ्रष्टाचार की फिर खुली पोल, प्रशिक्षण के नाम पर हुआ घोटाला, एनसीएल सीएसआर मद से मिले 12 लाख डकारे
Image
दैनिक रोजगार के पल समाचार की तरफ से सभी पत्रकार साथियों को विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
Image
भारत- सीमा विवादः भारत की अंतरराष्ट्रीय सीमा, नियंत्रण रेखा और वास्तविक नियंत्रण रेखा - ये तीनों आख़िर हैं क्या?
Image