खुद्दार मेरे शहर में फाक़े से मर गया,* *राशन तो मिल रहा था पर,* *वो फोटो से डर गया!* - विजय सोनी जोबट / अलीराजपुर

✍ *खुद्दार मेरे शहर में फाक़े से मर गया,*
*राशन तो मिल रहा था पर,*
*वो फोटो से डर गया!*


*खाना थमा रहे थे लोग सेल्फी के साथ साथ*
*मरना था जिसको भूख से,*
*वो ग़ैरत से मर गया!!*


राम राम जी🙏


Popular posts
घुटने टेकना' पहले सजा थी, अब 'घुटने टेके' तो सजा मिल गयी
ग्राम बादलपुर में धान खरीदी केंद्र खुलवाने के लिये बैतूल हरदा सांसद महोदय श्री दुर्गादास उईके जी से चर्चा करते हुए दैनिक रोजगार के पल के प्रधान संपादक दिनेश साहू
Image
कुजू कोयला मंडी में रामगढ़ पुलिस का छापा कैफ संचालक समत दो हिरासत में
कान्हावाड़ी में बनेगी अनूठी नक्षत्र वाटिका, पूर्वजों की याद में लगायेंगे पौधे* *सांसद डीडी उइके एवं सामाजिक कार्यकर्ता मोहन नागर ने कान्हावाड़ी पहुँचकर किया स्थल निरीक्षण
Image
वर्तमान बैतूल जिले की कोरोना मरीजो की संख्या में ग्रामीण मीडिया के पास प्राप्त आंकड़ों अनुसार-