परमार वंश प्रकटोत्सव दिवस की बधाई - श्रीमती राखी परमार

परमार वंश प्रकटोत्सव दिवस की बधाई
_----------------------------
        आज के दिन वैशाख शुक्ल पंचमी को अनल कुण्ड आबू पर्वत से परमार का अवतरण हुआ था। परमार वंश में कई महाप्रतापी सम्राट हुए। इसलिए कहा गया कि पृथ्वी तणा परमार पृथ्वी परमारो तणी। परमार वंश के राजा सत्य न्याय व भक्ति में सर्वोच्च थे। सम्राट युधिष्ठिर के पश्चात सम्राट विक्रमादित्य भारत वर्ष के महान सम्राट हुए। जिनसे देवता भी न्याय कराते थे व मदद लेते थे। और राजा भोज जैसे विद्वान राजा ने भी विश्व स्तरीय शास्त्रों की रचना कर परमार वंश का नाम इतिहास में स्वर्णाक्षरों लिखा।  आज परमार वंश के सभी महापुरुषों  गंधर्वसेन भृतहरि विक्रमादित्य शालिवाहन राजा राम परमार   उपेन्द्र राज सियक मुंज  राजा भोज उदयादित्य जगदेव धरणीवराह धारावर्ष राणा सोढा जी सांखला जी  हडबु जी सांखला जाम्भोजी पंवार  कुंवर चेन सिंह जी परमार बाबू कुंवर सिंह जी परमार  आदि को प्रणाम व शत् शत् नमन कि आपने परमार वंश को गौरवान्वित किया।
🙏श्रीमती राखी परमार 🙏


Popular posts
भारत- सीमा विवादः भारत की अंतरराष्ट्रीय सीमा, नियंत्रण रेखा और वास्तविक नियंत्रण रेखा - ये तीनों आख़िर हैं क्या?
Image
सरकारी माफिया / म. प्र. भोज मुक्त विश्वविद्यालय बना आर्थिक गबन और भ्रष्टाचार का अड्डा* **राजभवन सचिवालय के अधिकारियों की कार्य प्रणाली संदेह के घेरे में** *कांग्रेसी मूल पृष्ठ भूमि के कुलपति डॉ जयंत सोनवलकर अब राज्यपाल आर एस एस का संरक्षण बताकर कर रहे है खुलकर भ्रष्टाचार*
आंसू" जता देते है, "दर्द" कैसा है?* *"बेरूखी" बता देती है, "हमदर्द" कैसा है?*
संभागायुक्त ने किया शहर के नगर निगम पुस्तकालय और वाचनालयों का निरीक्षण
Image
बैतूल पाढर चौकी के ग्राम उमरवानी में जुआ रेड पर जबरदस्त कार्यवाही की गई
Image