पूर्व मंत्री कमलेश्वर ने राष्ट्रीय पंचायत दिवस पर पंचायतों के प्रतिनिधियों को दी बधाई स्वर्गीय श्री राजीव गांधी को याद किया

 


पूर्व मंत्री कमलेश्वर ने राष्ट्रीय पंचायत दिवस पर पंचायतों
के प्रतिनिधियों को दी बधाई
स्वर्गीय श्री राजीव गांधी को याद किया


भोपाल,


पूर्व पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री कमलेश्वर पटेल ने राष्ट्रीय पंचायत दिवस 24 अप्रैल पर पंचायतों के सभी प्रतिनिधियों, पंचो, सरपंचों, सचिवों को बधाई दी है। उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री राजीव गांधी को याद किया, जिनके कारण पंचायतों को सशक्त बनाने 73 वां संविधान संशोधन लागू किया गया। उन्होंने कहा कि इसी क्रांतिकारी संशोधन के स्मरण स्वरूप 24 अप्रैल को राष्ट्रीय पंचायत दिवस के रूप में मनाया जाता है।
श्री पटेल ने कहा कि भाजपा केंद्र में भले ही सत्ता में हो लेकिन अब किसी नेता में इतना नैतिक साहस नहीं रहा कि स्वर्गीय श्री राजीव गांधी को इस महान कार्य के लिए याद करे। उन्होंने आगे कहा कि स्वर्गीय श्री राजीव गांधी की सोच थी कि पंचायतीराज से जुड़ी संस्थाएं मजबूती से विकास कार्य कर सकें। उनका मानना था कि जब तक पंचायती राज व्यवस्था शक्तिशाली नहीं होगी, तब तक निचले स्तर तक लोकतंत्र नहीं पहुंच सकता। सभी राज्यों को पंचायतों के चुनाव कराने को मजबूर होना पड़ा।
श्री पटेल ने कहा कि पंचायतीराज व्यवस्था का मकसद सत्ता का विकेंद्रीकरण था। इसी क्रांतिकारी परिवर्तन से आज पंच-सरपंच विकास में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे है। उन्होंने सभी पंचायत प्रतिनिधियों से कोरोना वायरस को हराने में सहयोग देने का आग्रह किया।