राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री जे.पी.नड्डा एवं अन्य केंद्रीय नेताओं ने प्रदेश के कार्यकर्ताओं तथा पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा तीन तरीकों से करें जरूरतमंदों की सहायता


दिल्ली /राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री जे.पी.नड्डा एवं अन्य केंद्रीय नेताओं ने प्रदेश के कार्यकर्ताओं तथा पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि हमें अपने 9 लाख लोगों के माध्यम से प्रदेश के गरीबों, मजदूरों, एवं अभावग्रस्त लोगों की सहायता तो करनी ही है, समाज के अन्य लोगों, सामाजिक और स्वयंसेवी संगठनों को भी इसके लिये प्रेरित करना है। उन्होंने कहा कि पार्टी के कार्यकर्ता इस महामारी से लड़ने के लिए स्वयं प्रधानमंत्री राहत कोष में दान दें और कम से कम 10 लोगों को इसके लिए प्रेरित करें। केंद्रीय नेताओं ने कहा कि हमें तीन तरीकों से अभावग्रस्त लोगों की सहायता करना है। हम फूड पैकेट वितरित करके, कम्युनिटी किचन स्थापित करके तथा कच्चा राशन वितरित करके उनकी सहायता कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि पहले से तैयार फूड पैकेट्स को पहले एक जगह एकत्र किया जाए, फिर उन्हें जरूरतमंदों में वितरित किया जाए। समाज के सहयोग से कम्युनिटी किचन स्थापित करके बड़ी संख्या में जरूरतमंदों को भोजन कराया जा सकता है। केंद्रीय नेताओं ने कहा कि कच्चा राशन वितरित करने के लिए जो पैकेट बनाए जाएं, उसके लिए यह ध्यान रखें कि कम से कम 15 दिन का आटा, दाल, चावल, तेल, नमक, मसाले, आलू-प्याज तथा साबुन और डिटर्जेंट पावडर उसमें रखा जाए। केंद्रीय नेताओं ने निर्देश दिये कि मंडल स्तर और शक्ति केंद्र के कार्यकर्ता अपने क्षेत्रों में असहाय बुजुर्गों का पता लगायें तथा उन तक भोजन, जरूरत का सामान और दवाएं पहुंचाने का प्रबंध करें। इसी तरह घर लौट रहे मजदूरों के लिये भी भोजन, आवास और चिकित्सा के प्रबंध किए जाएं


Popular posts
बैतूल पाढर चौकी के ग्राम उमरवानी में जुआ रेड पर जबरदस्त कार्यवाही की गई
Image
जांच के इंतजार में आर ई एस तालाब सलैया
बीती देर रात सांसद दुर्गादास उईके ने ग्राम पिपरी पहुंचकर हादसे में मृतकों के परिजनों से की मुलाकात ।
Image
कोरोना के एक वर्ष पूरे आज ही के दिन चीन में कोरोना का पहला केस मिला था
Image
सरकारी माफिया / म. प्र. भोज मुक्त विश्वविद्यालय बना आर्थिक गबन और भ्रष्टाचार का अड्डा* **राजभवन सचिवालय के अधिकारियों की कार्य प्रणाली संदेह के घेरे में** *कांग्रेसी मूल पृष्ठ भूमि के कुलपति डॉ जयंत सोनवलकर अब राज्यपाल आर एस एस का संरक्षण बताकर कर रहे है खुलकर भ्रष्टाचार*