सामाजिक दुरी से कोसो दूर हे बोड़ा का गेहूं उपार्जन केंद्र, अव्यवस्थाओं का बोलबाला, कब ध्यान देगा जिला प्रशासन अव्यवस्थाओ पर

सामाजिक दुरी से कोसो दूर हे बोड़ा का गेहूं उपार्जन केंद्र, अव्यवस्थाओं का बोलबाला, कब ध्यान देगा जिला प्रशासन अव्यवस्थाओ पर


(संजय राठौर)
बोङा-: नरसिंहगढ़ रोड पर अर्जुन कान्वेंट स्कूल के पास खुले में प्राथमिक कृषि सहकारी संस्था द्वारा पिछले दिनों 15 अप्रैल से गेहूं उपार्जन केंद्र पर खरीदी को लेकर किसानो को एसएमएस के माध्यम से अपने गेहूं कि फसल विक्रय करने के लिए उपार्जन केंद्र परिसर में बुलाया गया जा रहा है जिसके चलते प्रतिदिन किसान अपने  गेहूं लेकर उपार्जन केंद्र पहुँच रहें हे जिसको लेकर प्रशासन द्वारा पूर्व में व्यापक तैयारियां करवाई जाकर किसानो से गेहूं खरीदा जाता रहा हे इस दौरान उपार्जन केंद्र पर  समुचित पेय जल कि व्यवस्था, शौचालय समेत स्वल्पहार व चाय का अस्थाई  केंटीन नहीं होना पाया गया साथ ही फसल विक्रेता किसानों के बैठने उठने कि उपार्जन केंद्र प्रबंधन कोई व्यवस्था नहीं की गई किन्तु वर्तमान हालातों लॉकडाउन के चलते किसानो को गेहूं बेचने कि रियायत तो शासन प्रशासन द्वारा दि गई किन्तु वहा कि व्यवस्थाओं के नाम पर अभी भी अव्यवस्थाओं का बोलबाला देखने में आ रहा हे l पिने के पानी कि एक टंकी कि जोकि काफी दूर रखी है जो पर्याप्त नहीं है पेयजल के नाम पर अपर्याप्त हे जलपान केंटीन लापता और उससे भी महत्वपूर्ण यह कि कोरोना वायरस संक्रमण के आपात कालीन समय में व्यवस्थित गेहूं विक्रय के दौरान सामाजिक दुरी को लेकर मातृ एक आरक्षक के भरोसे व्यवस्था चलाई उपार्जन केंद्र पर सैनिटाइजर एवं मास्क की व्यवस्था कोसों दूर है  ट्रेक्टर ट्रालियों से गेहूं खाली कराए जाने के दौरान सामाजिक दुरी रखे जाने कि व्यवस्था भी धराशाई होती देखी गई। 29 अप्रैल बुधवार तक उपार्जन केंद्र द्वारा कुल 5948 क्विंटल गेहूं खरीदे गए इनमें से 5302 क्विंटल गेहूं वेयरहाउस पहुंच चुका है वर्तमान में लगभग 646 क्विंटल गेहूं खुले में पड़ा है इसकी सुरक्षा के लिए मात्र त्रिपाल की व्यवस्था उपार्जन केंद्र पर है प्रतिदिन लगभग 30 किसानों के पास मैसेज पहुंच रहा है। 


Popular posts
अतिथि शिक्षकों को अप्रैल तक का मानदेय होगा भुगतान 
Image
हर साल 1000 करोड़ का घोटाला करता है राशन माफिया
Image
रायसेन में डॉ राधाकृष्णन हायर सेकंडरी स्कूल के पास मछली और चिकन के दुकान से होती है गंदगी नगर पालिका प्रशासन को सूचना देने के बाद भी नहीं हुई कोई कार्यवाही
बीती देर रात सांसद दुर्गादास उईके ने ग्राम पिपरी पहुंचकर हादसे में मृतकों के परिजनों से की मुलाकात ।
Image
*ये दुनिया भी कितनी निराली है!* *जिसकी आँखों में नींद है …. उसके पास अच्छा बिस्तर नहीं …जिसके पास अच्छा बिस्तर है …….उसकी आँखों में नींद नहीं …* *जिसके मन में दया है ….उसके पास किसी को देने के लिए धन नहीं* …. *और जिसके पास धन है उसके मन में दया नहीं