आजीविका मिशन द्वारा टेलीकॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से 26 ग्रामों के 44 संगठन एवं समूह प्रतिनिधियों को कोरोना का दिया प्रशिक्षण

 (सुनील जोशी) अलीराजपुर-- मध्य प्रदेश डे राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन उदयगढ़ द्वारा स्वास्थ्य विभाग के एमओ डॉक्टर शिखा शर्मा के सहयोग से 26 ग्रामों के 44 संगठनों एवं समूह के प्रतिनिधियो को कोरोना से बचाव , रोकथाम के तरीके एवं लक्षणों के बारे में टेलीकॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रशिक्षित किया गया , ताकि वे समुदाय के बीच जाकर स्थानीय भाषा में समूह एवं संगठनों से जुड़े सदस्यों एवं ग्रामीणों की जानकारी बढ़ाकर उन्हें जागरूक कर सके । विकास खंड प्रबंधक विजय सोनी ने बताया कि, वर्तमान में बड़ी संख्या में पलायन से ग्रामीण श्रमिक गांवो में आ रहे हैं और ऐसी स्थिति में कोरोना से होने वाले संक्रमण की संभावना बढ़ सकती है । कोरोना से बचाव के लिए उसके लक्षणों और उसकी पहचान के बारे में जानकारी रखना बहुत जरूरी है , इसी उद्देश्य को लेकर यह प्रशिक्षण आयोजित किया गया । जिसमें मास्क का उपयोग, साबुन से हाथ धोना तथा सामाजिक दूरी का पालन कर उससे बचाव करना ही उसका उपचार है । डॉ शर्मा ने सरल भाषा का उपयोग करते हुए प्रतिनिधियों के प्रश्नों का समाधान बेहतर तरीके से किया । इस दौरान उन्होंने शासकीय चिकित्सालय मैं उपस्थित रहकर मोबाइल के माध्यम से जानकारियों का आदान प्रदान किया । मिशन सहयोग दल सदस्य दिनेश वसुनिया एवं नीना राठौड़ ने ग्राम स्तर पर लोगों को जागरूक करने के लिए अपनाई जाने वाले तरीकों जैसे स्थानीय भाषा के माध्यम से गीत तैयार कर गाना , बच्चों एवं महिलाओं के साथ प्रश्नोत्तरी कार्यक्रमों का आयोजन सामाजिक दूरी का पालन एवं सावधानियां रखते हुए करके उन्हें छोटे-छोटे पुरस्कार द्वारा प्रोत्साहित करने के तरीकों के बारे में बताया, ताकि हर परिवार तक जानकारी पहुंच सके और जागरूकता बढ़ सके । सदस्य भूरिया परमार, अनिल मुजालदा,, सीएलएफ अध्यक्ष गनबाई, श्रीमती अनीता चौहान , श्रीमती रीना चौहान, सुमन कटारिया , कोकिला चौहान, शकुंतला गहलोत , ज्योति, ममता नायक, रेखा मूवेल , किरण रावत , आदि के सहयोग से उनके मोबाइल द्वारा टेलीकॉन्फ्रेंसिंग की प्रक्रिया संपन्न की गई । संकुल स्तरीय संगठनो, ग्राम संगठनों एवं समूह सदस्य ने बड़े उत्साह के साथ प्रशिक्षण मे जानकारी प्राप्त की एवं उनका प्रचार-प्रसार ग्राम स्तर में किए जाने का संकल्प लिया । जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी पवनशाह ने भी इस प्रक्रिया में प्रतिभाग कर जानकारी प्राप्त कर उसे ग्राम पंचायत एवं जनपद पंचायत के प्रतिनिधियों के लिए भी उपयोगी बताया । मिशन की पहल का स्वागत करते हुए उन्होंने इस कार्यक्रम की सराहना भी की है ।


Popular posts
ग्रामीण आजीविका मिशन मे भ्रष्टाचार की फिर खुली पोल, प्रशिक्षण के नाम पर हुआ घोटाला, एनसीएल सीएसआर मद से मिले 12 लाख डकारे
Image
आंसू" जता देते है, "दर्द" कैसा है?* *"बेरूखी" बता देती है, "हमदर्द" कैसा है?*
कान्हावाड़ी में बनेगी अनूठी नक्षत्र वाटिका, पूर्वजों की याद में लगायेंगे पौधे* *सांसद डीडी उइके एवं सामाजिक कार्यकर्ता मोहन नागर ने कान्हावाड़ी पहुँचकर किया स्थल निरीक्षण
Image
कुदरत का कहर भी जरूरी था साहब, वरना हर कोई खुद को खुदा समझ रहा था*  - दिनेश साहू
Image
अगर आप दुख पर ध्यान देंगे तो हमेशा दुखी रहेंगे और सुख पर ध्यान देंगे तो हमेशा सुखी रहेंगे
Image