प्लान क्या था?? "मज़दूरों के लिए ट्रेन चलानी थी या मज़दूरों पर ट्रेन चलानी थी" रोजी-रोटी के सफ़र को जिंदगी की पटरी पर आने से पहले,यहीं खत्म कर देने वाले ये मज़दूर काश विदेश गए होते? - के के मिश्रा

प्लान क्या था??
"मज़दूरों के लिए ट्रेन चलानी थी या मज़दूरों पर ट्रेन चलानी थी" रोजी-रोटी के सफ़र को जिंदगी की पटरी पर आने से पहले,यहीं खत्म कर देने वाले ये मज़दूर काश विदेश गए होते?@MPArunYadav @pachouri_office @VTankha @digvijaya_28 @ChouhanShivraj @narendramodi @OfficeOfKNath https://t.co/a0yyZOLRgE


Popular posts
बैतूल पाढर चौकी के ग्राम उमरवानी में जुआ रेड पर जबरदस्त कार्यवाही की गई
Image
ग्रामीण आजीविका मिशन मे भ्रष्टाचार की फिर खुली पोल, प्रशिक्षण के नाम पर हुआ घोटाला, एनसीएल सीएसआर मद से मिले 12 लाख डकारे
Image
आंसू" जता देते है, "दर्द" कैसा है?* *"बेरूखी" बता देती है, "हमदर्द" कैसा है?*
रायसेन में डॉ राधाकृष्णन हायर सेकंडरी स्कूल के पास मछली और चिकन के दुकान से होती है गंदगी नगर पालिका प्रशासन को सूचना देने के बाद भी नहीं हुई कोई कार्यवाही
कान्हावाड़ी में बनेगी अनूठी नक्षत्र वाटिका, पूर्वजों की याद में लगायेंगे पौधे* *सांसद डीडी उइके एवं सामाजिक कार्यकर्ता मोहन नागर ने कान्हावाड़ी पहुँचकर किया स्थल निरीक्षण
Image