संचार माध्यमों से कोरोना की भ्रांतियो को दूर कर रहे आजीविका मिशन के समूह सदस्य 

संचार माध्यमों से कोरोना की भ्रांतियो को दूर कर रहे आजीविका मिशन के समूह सदस्य
 (सुनील जोशी)
 जोबट- मध्यप्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन उदयगढ़  के  सामुदायिक कार्यकर्ता जो कि सोशल मीडिया से जुड़े हुए हैं को विकासखंड अमले द्वारा परिवार एवं स्वास्थ्य कल्याण मंत्रालय भारत सरकार द्वारा सूचना शिक्षा और संचार सामग्री के माध्यम से कोरोना जैसी संचारी रोगों से समुदाय मैं भय एवं चिंता जैसे मनोविकार  उत्पन्न ना हो इसलिए जागरूकता बढ़ाने और तनाव प्रबंधन करने हेतु पोस्टर्स  एवं वीडियो के माध्यम से जागरूक करने के प्रयास किए जा रहे हैं l एमपी वॉलंटरी हेल्थ एसोसिएशन इंदौर के  विकासखंड समन्वयक  श्रीमती सरोज  बारिया के माध्यम से प्राप्त जागरूकता सामग्री जिसमें क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए, संक्रमित व्यक्ति एवं स्वास्थ्य कर्मियों के साथ किए जाने वाले व्यवहार,  व्यायाम करने आदि के बारे में जानकारी दी गई है l  जिसको विभिन्न सोशल मीडिया के समूह में भिजवाए जा रहा हैl समूह के सदस्यों द्वारा जानकारी प्राप्त कर लोगों में जागरूकता फैलाई जा रही है l   विकासखंड प्रबंधक विजय सोनी ने बताया कि, वर्तमान में ग्रामीण स्तर पर ग्रामीणों के मध्य भय और आशंका का वातावरण  बना हुआ है,  जिससे लोग सामाजिक दूरी बनाए हुए हैं l ग्राम में फैले अंधविश्वास एवं सही जानकारी के अभाव में लोगों में अलग-अलग तरह की बातें होते हो रही है l ऐसी स्थिति में समुदाय द्वारा  समुदाय के बीच  जागरूकता फैलाने का प्रयास सराहनीय   हैं l मिशन सहयोग  सदस्य दिनेश वसुनिया, नीना राठौर भूरिया परमार एवं अनिल मुजाल्दा भी इस काम में सहयोग कर रहे हैं l


Popular posts
अतिथि शिक्षकों को अप्रैल तक का मानदेय होगा भुगतान 
Image
हर साल 1000 करोड़ का घोटाला करता है राशन माफिया
Image
रायसेन में डॉ राधाकृष्णन हायर सेकंडरी स्कूल के पास मछली और चिकन के दुकान से होती है गंदगी नगर पालिका प्रशासन को सूचना देने के बाद भी नहीं हुई कोई कार्यवाही
बीती देर रात सांसद दुर्गादास उईके ने ग्राम पिपरी पहुंचकर हादसे में मृतकों के परिजनों से की मुलाकात ।
Image
*ये दुनिया भी कितनी निराली है!* *जिसकी आँखों में नींद है …. उसके पास अच्छा बिस्तर नहीं …जिसके पास अच्छा बिस्तर है …….उसकी आँखों में नींद नहीं …* *जिसके मन में दया है ….उसके पास किसी को देने के लिए धन नहीं* …. *और जिसके पास धन है उसके मन में दया नहीं