औरंगाबाद रेल दुर्घटना में बचे श्रमिक वीरेंद्र सिंह ने प्रदेश सरकार का जताया आभार

उमरिया -


औरंगाबाद रेल दुर्घटना में उमरिया जिले के पांच श्रमिकों की मृत्यु हो गई थी ए उनमे से एक मात्र श्रमिक वीरेंद्र सिंह जीवित बचा था। प्रदेश शासन के आदिम जाति कल्याण मंत्री तथा जिला प्रभारी मंत्री सुश्री मीना सिंह जब शोक संवेदना व्यक्त करनें उनके गृह ग्राम पहुंची तथा मृतको परिवार जनों से मिलकर शोक सवंदना व्यक्त कर रही थी तो दुर्घटना में बचे एक मात्र श्रमिक वीरेंद्र सिंह पिता चैन सिंह निवासी जमडी ने दुर्घटना के बाद प्रदेश सरकार तथा प्रदेश शासन की आदिम जाति कल्याण मंत्री मीना सिंह से मिलकर तत्कालिक मदद हेतु धन्यवाद ज्ञापित किया। 


जिले की प्रभारी मंत्री ने दुख की इस घड़ी में संपर्क कर सभी आवश्यक व्यवस्था करने की बात मोबाइल के मध्यम से कही। इतना ही नही वे स्वयं मप्र के अधिकारियों का दल लेकर घटना स्थल पर पहची तथा स्वास्थ्य व्यवस्था हेत् मतको के पार्थिव शरीर को घर तक पहुचाने की व्यवस्था सुनिश्चित कराने के बाद ही वापस लौटी। विपत्ति की इस घड़ी में मंत्री सुश्री मीना सिंह द्वारा किए गए सहयोग एवं संबल को मैं जीवन भर नही भूल पाउंगा। उन्होने पूरे घटना की जानकारी ग्रामीणों को देते हुए प्रदेश सरकार द्वारा किए गए सहयोग के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया। ___इस अवसर पर प्रदेश शासन की आदिम जाति कल्याण मंत्री सुश्री मीना सिंह ने श्रमिक वीरेंद्र सिंह सिंह से कुशल क्षेम की जानकारी ली तथा कहा कि उन्हें भी प्रदेश सरकार की ओर से योजनाओ का लाभ दिलाया जाएगा।


Popular posts
माँ कर्मा देवी जयंती की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं- दिनेश साहू प्रवक्ता मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी
Image
शत्रु ये अदृश्य है विनाश इसका लक्ष्य है - शरद गुप्ता /इंस्पेक्टर मुम्बई पुलिस
Image
बैतूल पाढर चौकी के ग्राम उमरवानी में जुआ रेड पर जबरदस्त कार्यवाही की गई
Image
एक ऐसी महान सख्सियत की जयंती हैं जिन्हें हम शिक्षा के अग्रदूत नाम से जानते हैं ।वो न केवल शिक्षा शास्त्री, महान समाज सुधारक, स्त्री शिक्षा के प्रणेता होने के साथ साथ एक मानवतावादी बहुजन विचारक थे। - भगवान जावरे
Image
बेवजह घर से निकलने की,  ज़रूरत क्या है | मौत से आंख मिलाने  की,  ज़रूरत क्या है || भगवान जावरे