मां की मृत्यु के बाद दुर्गा तोमर के जीवन की सहारा बनीं संबल योजना

 


उमरिया - नगर पालिका उमरिया के वार्ड क्रमांक 1 मे निवास करने वाली दुर्गा तोमर अपनी मां कमला तोमर के साथ रहती थी। मां कमला तोमर लोगो के घरों में भोजन बनाकर जीवन यापन करती थी। उन्होने पांच साल पूर्व अपनी बेटी दुर्गा तोमर का विवाह राज स्थान में किया। विवाह के बाद उन्हे एक संतान भी प्राप्त हुईए जिसकी उम्र ढाई वर्ष है। कुछ दिनों तक वैवाहिक संबंध ठीक रहने के बाद धीरे धीरे बिगडने लगे तथा दुर्गा तोमर अपनी मां के पास वापस उमरिया आ गई। ___ वर्ष 2019 में उनकी मां कमला तोमर की मृत्यु हो गई। अब दुर्गा तोमर के जीवन का सहारा कोई नही था उनके पास इतने भी पैसे नही थे कि वे अपनी मां के संस्कार ठीक कर सके। प्रदेश सरकार द्वारा संचालित संबल योजना विपत्ति की घडी में उनका सहारा बनी।


नगर पालिका उमरिया द्वारा अन्त्येष्टि सहायता योजना के तहत पांच हजार रूपये की आर्थिक मदद की। इसके बाद मां की साधारण मृत्यु पर दो लाख रूपये की आर्थिक सहायता प्राप्त हुई। दुर्गा तोमर ने बताया कि कुछ दिनो तक तो वह सदमें मे रही फिर धीरे धीरे उन्होंने पुनः जीना सीखा इस दौरान संबंल योजना में मिली राशि से जीवन संचालन किया। अब वे शादी विवाह एवं घरो में भोजन बनाने का काम करके अपनी जीविकोपार्जन कर रही है। दुर्गा तोमर ने कहा कि विपत्ति के दौरान मध्यप्रदेश सरकार की मदद ने जीने का सहारा दिया । प्रदेश सरकार एवं प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जिन्होंने हम जैसे गरीब लोगों के लिए संबल योजना बनाकर उपकार किया है उन्हें धन्यवाद ज्ञापित करती ह


Popular posts
सरकारी माफिया / म. प्र. भोज मुक्त विश्वविद्यालय बना आर्थिक गबन और भ्रष्टाचार का अड्डा* **राजभवन सचिवालय के अधिकारियों की कार्य प्रणाली संदेह के घेरे में** *कांग्रेसी मूल पृष्ठ भूमि के कुलपति डॉ जयंत सोनवलकर अब राज्यपाल आर एस एस का संरक्षण बताकर कर रहे है खुलकर भ्रष्टाचार*
भ्रष्ट एवं गबन करने वाले सचिव बद्रीलाल भाभर पर एफ आई आर दर्ज को सेवा से निष्कासित करे
Image
सहारनपुर ईद जो की सम्भावित 1 अगस्त की हो सकती है उससे पहले एक संदेश की अफ़वाह बड़ी तेज़ी से आम जनता में फैल रही है
शराब के बहुत नुकसान है साथियों सभी दूर रहे तो इसमें समाज और देश की भलाई है - अशोक साहू
Image
Urgent Requirement