शिवराज जी,इसमें कोई संदेह नहीं कि आप पर तमगा "झूठ राजसिंह" का लगा है, सावेर विधानसभा (जिला-इंदौर) में भाजपा कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए आपने स्वीकार लिया है कि-- कमलनाथ जी के नेतृत्व वाली निर्वाचित सरकार को गिराने का साजिश आपके ही केंद्रीय नेतृत्व ने रची थी - के के मिश्रा

भोपाल -


धन्यवाद शिवराज सिंह चौहान जी,इसमें कोई संदेह नहीं कि आप पर तमगा "झूठ राजसिंह" का लगा है,किन्तु सांवेर विधानसभा (जिला-इंदौर) में भाजपा कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए आपने स्वीकार लिया है कि--* *(1) मप्र में माननीय कमलनाथ जी के नेतृत्व वाली निर्वाचित सरकार को गिराने का साजिश आपके ही केंद्रीय नेतृत्व ने रची थी,उस दौरान जब देश कोरोना संक्रमण से जूझ रहा था? तब आपकी प्राथमिकता एक निर्वाचित सरकार को गिराना थी?* *(2)आपके ही शब्दों में (विभीषण) यानी श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया व श्री तुलसी सिलावट यदि नही होते तो क्या प्रदेश में भाजपा की सरकार व मैं मुख्यमंत्री बन सकता था?* *माननीय संलग्न ऑडियो केंद्र और आपके द्वारा एक निर्वाचित सरकार को गिराने,लोकतंत्र की हत्या करने और एक असंवैधानिक कदाचरण का स्पष्ट प्रमाण है,जो आने वाले दिनों में आप और आपके राजनैतिक चरित्रहीन नेतृत्व को परेशानी में डालेगा।* *अब आपने "झूठ राजसिंह" का आंशिक तमगा (गंभीर त्रुटिवश) हटा ही लिया है,तो कृपापूर्वक यह भी बता ही दीजिये की आपके द्वारा "नीलामी" में खरीदे गए इन गद्दारों की आधिकारिक कीमतें भी क्या थी, इन्हें कितना मिला, बीच में किसने कितना हजम किया, 4-4 करोड़ किसने चुनावी खर्च के लिए रोका हुआ है,इस काले धन की व्यवस्था दिल्ली-मप्र से कितनी-कितनी हुई, किन-किन अधिकारियों का भी इसमें कितना अंशदान था, ग्वालियर-चम्बल संभाग में भोपाल में पदस्थ किस उच्च स्तरीय अधिकारी ने अपने अधीनस्थों के माध्यम से एम्बुलेंस के माध्यम से पैसा भिजवाया और किन-किन अधिकारियों को आपने जून,2020 तक 1500 करोड़ एकत्र करने का टारगेट यह कहकर दिया है कि यह पैसा मुझे पार्टी फंड में वापस लौटना है?* *कृपाकर आप ही इसे सार्वजनिक कर दें,अन्यथा आने वाले दिनों में हमसे इन आरोपों को प्रामाणिक तौर पर सुनने के लिए तैयार रहिएगा ... आपको स्मरण ही होगा कि गत सम्पन्न विधानसभा चुनाव में भी जब परिणाम आ रहे थे,यह स्पष्ट हो चुका था कि आपकी बिदाई सुनिश्चित हो गई है, तब भी देर रात ढाई से 4 बजे के बीच आपने अपने विश्वस्त 3 अधिकारियों की मौजूदगी में किन-किन कलेक्टरों को चुनाव परिणाम बदल भाजपा प्रत्याशियों को प्रमाण पत्र जारी कर दिए जाने का किसके मोबाइल फोन से दबाव बनाया था,जो माननीय कमलनाथ जी की सजगता व निर्वाचन आयोग के दबाववश पूरा नहीं हो पाया था!! किसी से छुपा नहीं है।लिहाजा,राजनैतिक बेईमानी आप व आपकी विचारधारा के खून में बसी हुई है! सांवेर के कार्यकर्ताओं के बीच आपने जो उम्मीद जताई है कि यदि तुलसी सिलावट जी नहीं जीते तो मैं मुख्यमंत्री नहीं रह सकूंगा,सांवेर की जनता देशभक्त होलकर खानदान के जिले की है,जिसने अंग्रेजों से लोहा लिया था,वह गद्दारों को सबक सिखाएगी और आपकी बिदाई के साथ माननीय कमलनाथ जी बतौर मुख्यमंत्री के रूप में पुनः स्थापित होना सुनिश्चित है।


Popular posts
माँ कर्मा देवी जयंती की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं- दिनेश साहू प्रवक्ता मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी
Image
शत्रु ये अदृश्य है विनाश इसका लक्ष्य है - शरद गुप्ता /इंस्पेक्टर मुम्बई पुलिस
Image
बैतूल पाढर चौकी के ग्राम उमरवानी में जुआ रेड पर जबरदस्त कार्यवाही की गई
Image
एक ऐसी महान सख्सियत की जयंती हैं जिन्हें हम शिक्षा के अग्रदूत नाम से जानते हैं ।वो न केवल शिक्षा शास्त्री, महान समाज सुधारक, स्त्री शिक्षा के प्रणेता होने के साथ साथ एक मानवतावादी बहुजन विचारक थे। - भगवान जावरे
Image
वेतन वृद्धि को एरियर्स सहित जून माह के वेतन के साथ दी जाए