झारखंड में आसमानी कहर से 6 लोगों की मौत, कई घायल

13 जुलाई को प्रदेश के अलग-अलग जिलों में वज्रपात हआ, जिसमें 6 लोगों की मौत हो गई है.


झारखंड में वज्रपात की घटना थमने का नाम नहीं ले रहा है. वज्रपात के कारण लगातार लोगों की मौत हो रही है. 13 जुलाई को प्रदेश के अलग-अलग जिलों में वज्रपात हुआ जिसमें 6 लोगों की मौत हो गई है.


रांची: झारखंड में वज्रपात का कहर लगातार जारी है. 13 जुलाई को भी प्रदेश के कई जगहों पर वज्रपात हुआ, जिसमें 6 लोगों की मौत हो गई. साथ ही एक बैल की भी मौत हो गई. घटना के बाद से इलाके में कोहराम मचा हुआ है. परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है. घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर कार्रवाई शुरू कर दी है.


सरायकेला में वज्रपातपहली घटना सरायकेला जिले के चांडिल ईचागढ़ थाना क्षेत्र के आमड़ा गांव की है,जहां वज्रपात से एक किसान दुलाल चंद्र गोप (33 वर्ष) की मौत हो गई. दुलाल चंद्र अपने खेतों में काम कर वापस लौट रहा था. इसी दौरान बिजली कड़कने लगी और दुलाल तालाब के मेड में खड़ा हो गया, जहां अचानक वज्रपात हो गया और मौके पर ही उसकी मौत हो गई. घटना की सूचना मिलते ही मुखिया प्रतिनिधि किशन किस्कु उसके घर पहुंचे और मामले की जानकारी पुलिस को दी. उन्होंने प्रशासन से दुलाल चंद्र के परिजनों को मुआवजा देने की मांग भी की है.


सरायकेला में आसमानी कहरधनबाद में वज्रपातदूसरी घटना धनबाद की है, जहां तोपचांची प्रखंड चैता गांव में वज्रपात से मंतोष मंडल (22 वर्ष) की मौत हो गई. मंतोष मंडल हॉल सेल दवा का कारोबार करता था. वह तेलो से दवा देकर लौट रहा था. इसी क्रम में बारिश होता देख वह जमुनिया नदी के पास अपनी बाइक खड़ी कर रेनकोर्ट पहनने लगा,तभी वज्रपात हो गया, जिससे उसका मोबाइल बलास्ट कर गया. घटना की जानकारी मिलने के बाद मौके पर ग्रामीणों की भीड़ लग गई


धनबाद में युवक की मौतइसे भी पढ़ें:- लोहरदगा में वज्रपात की चपेट में आने से 2 लोगों की मौत, 24 घंटे में 4 की गई जानगिरिडीह में वज्रपातवहीं तीसरी घटना गिरिडीह में मधुवन थाना क्षेत्र के जोभी में घटी,जहां वज्रपात के चपेट में आने से झुपरा मांझी (65 वर्ष) की मौत हो गई. मृतक के परिजनों ने बताया कि अपरा मांझी खेत मे काम करवाने के लिए ट्रैक्टर लाने की बात कह कर खेत की ओर गए थे. इसी दौरान तेज बारिश शुरू हो गई और वह वापस अपना घर वापस लौटने लगा. इसी क्रम में वज्रपात हो गई, जिससे वो गंभीर रूप से घायल हो गया, जिसके बाद परिजन ने आनन-फानन में 108 एंबुलेंस की मदद से डुमरी रेफरल अस्पताल ला रहे थे. आस्पताल लाने के क्रम में रास्ते में ही उसकी मौत हो गई. मृतक का एक बेटा मुखी लाल मुर्मु है, जो तमिलनाडु में रहकर मजदूरी करता है. घटना के बाद इमरी प्रमुख यशोदा देवी और भाजयुमो के जिला उपाध्यक्ष सुरेंद्र कुमार डुमरी रेफरल अस्पताल पहुंचे कर मृतक के परिजनों से मुलाकात की. उन्होंने परिजनों को मुआवजा दिलाने का आश्वासन दिया है.


गिरिडीह में आसमानी कहररांची में वज्रपातरांची के तमाड़ थाना क्षेत्र के डिम्बूडीह और बारेडीह गांव के बीच बारिश के दौरान वज्रपात हो गया जिसमें एक युवक रामेश्वर महतो की मौत हो गई. वह बारेडीह गांव का रहने वाला था. रामेश्वर महतो अपने खेत में हल चला रहा था. इसी दौरान अचानक बारिश शुरू हो गई और वज्रपात हो गया, जिसने रामेश्वर महतो और उसके एक बैल को चपेट में ले लिया. दोनों की मौत घटनास्थल पर ही हो गई.पलामू में वज्रपातपलामू जिले केहुसैनाबाद थाना अंतर्गत झाखंड-बिहार सीमा स्थित झरगाड़ा गांव में भी वज्रपात से 45 वर्षीय बिंदा कुंवर की मौत हो गई. बिंदा कुंवर अपने बेटे को खाना पहुंचाने खेत गई थी. पिछले साल भी बिंदा कुंवर के पति लल्लु साव की मौत वज्रपात से ही हुई थी. वहीं जिले के नौड़िहा बाजार थाना क्षेत्र के लक्ष्मीपुर पंचायत के महआरी टोला निवासी 5 वर्षीय पिंटू भुइयां की भी मौत व्रजपात से हो गई है.


 


Popular posts
सरकारी माफिया / म. प्र. भोज मुक्त विश्वविद्यालय बना आर्थिक गबन और भ्रष्टाचार का अड्डा* **राजभवन सचिवालय के अधिकारियों की कार्य प्रणाली संदेह के घेरे में** *कांग्रेसी मूल पृष्ठ भूमि के कुलपति डॉ जयंत सोनवलकर अब राज्यपाल आर एस एस का संरक्षण बताकर कर रहे है खुलकर भ्रष्टाचार*
ग्रामीण आजीविका मिशन मे भ्रष्टाचार की फिर खुली पोल, प्रशिक्षण के नाम पर हुआ घोटाला, एनसीएल सीएसआर मद से मिले 12 लाख डकारे
Image
दैनिक रोजगार के पल समाचार की तरफ से सभी पत्रकार साथियों को विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
Image
भारत- सीमा विवादः भारत की अंतरराष्ट्रीय सीमा, नियंत्रण रेखा और वास्तविक नियंत्रण रेखा - ये तीनों आख़िर हैं क्या?
Image
घुटने टेकना' पहले सजा थी, अब 'घुटने टेके' तो सजा मिल गयी