कोरोना से जूझ रही जनता के वर्षों पुराने मकानों को अवैध निर्माण के नाम पर नोटिस थमाना दुर्भाग्यपूर्ण : दुर्गेश शर्मा

प्रशासन के तानाशाही निर्णय से जनता में उभर रहा है गंभीर आक्रोश तुगलकी फैसले को शीघ्र वापस ले शिवराज सरकार



भोपाल, मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री व प्रवक्ता श्री दुर्गेश शर्मा ने आज जारी अपने वक्तव्य में बताया कि कोरोना महामारी से निपटने में अक्षम साबित हो रही प्रदेश सरकार, जनता को राहत देने की बजाय उस पर दोहरा प्रहार कर रही है। प्रदेश की राजधानी भोपाल में महामारी से त्रस्त आम जनता के वर्षों पुराने मकानों को अतिरिक्त निर्माण के नाम पर बेवजह नोटिस देकर दबावपूर्वक राजस्व बढ़ाने और वसूली के लिए परेशान किया जा रहा है।


आज जारी अपने वक्तव्य में प्रदेश की शिवराज सरकार और राजधानी प्रशासन पर उपरोक्त आरोप लगाते हुए श्री शर्मा ने कहा कि कोरोना से निपटने की बजाए प्रदेश सरकार की प्राथमिकताएं दूसरी हैं, वह राजस्व बढ़ाने, शराब की बिक्री करवाने, उपचुनाव जीतने और अपना प्रचार करने में अधिक व्यस्त है और प्रदेश के नागरिकों के जीवन और स्वास्थ्य की उसे कोई परवाह नजर नहीं आ रही।


अपने बयान के अंत में श्री शर्मा ने कहा की प्रदेश सरकार को उपरोक्त तानाशाहीपूर्ण निर्णय को शीघ्र वापस लेकर कोरोना के इस संकट काल में महामारी से निपटने को सरकार की प्राथमिकता बनाना चाहिए लेकिन अफसोस की सरकार का महामारी से निपटने और जनता को राहत पहुंचाने की ओर जरा भी ध्यान नहीं है। प्रदेश की जनता इस परिस्थिति में सरकार की घोर असंवेदनशीलता और रूखे व्यवहार से पूरी तरह त्रस्त हो चुकी है और उसे कांग्रेस की जनहितैषी सरकार और भाजपा की वर्तमान अवैध सरकार का अंतर भी स्पष्ट नजर आ रहा है, अब इस बात में शक की कोई गुंजाइश नहीं रह गई है कि भाजपा को आगामी उपचुनावों में इन तुगलकी निर्णयों के गंभीर परिणाम भुगतने होंगे


Popular posts
सरकारी माफिया / म. प्र. भोज मुक्त विश्वविद्यालय बना आर्थिक गबन और भ्रष्टाचार का अड्डा* **राजभवन सचिवालय के अधिकारियों की कार्य प्रणाली संदेह के घेरे में** *कांग्रेसी मूल पृष्ठ भूमि के कुलपति डॉ जयंत सोनवलकर अब राज्यपाल आर एस एस का संरक्षण बताकर कर रहे है खुलकर भ्रष्टाचार*
कोरोना के एक वर्ष पूरे आज ही के दिन चीन में कोरोना का पहला केस मिला था
Image
ग्रामीण आजीविका मिशन मे भ्रष्टाचार की फिर खुली पोल, प्रशिक्षण के नाम पर हुआ घोटाला, एनसीएल सीएसआर मद से मिले 12 लाख डकारे
Image
दैनिक रोजगार के पल समाचार की तरफ से सभी पत्रकार साथियों को विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
Image
भारत- सीमा विवादः भारत की अंतरराष्ट्रीय सीमा, नियंत्रण रेखा और वास्तविक नियंत्रण रेखा - ये तीनों आख़िर हैं क्या?
Image