नागरिकों ने किया कोरोना योद्धाओं का सम्मान


मुख्य अतिथि गुलाब सिंह यादव (बाबुजी)एविशेष अतिथि कमल चौरसिया चीफ एडिटर नरसिंहगढ़ ए मुख्य नगरपालिका अधिकारी नगर परिषद बोड़ा मोहम्मद सलीम खान द्वारा मां सरस्वती के चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलन एवं माल्यार्पण कर की गई।



(संजय राठौर -बोड़ा/ राजगढ़ ):नगर परिषद के सभाकक्ष में गत दिवस नागरिकों द्वारा कोरोना योद्धा सम्मान समारोह आयोजित किया गयाकार्यक्रम की शुरुआत कार्यक्रम मुख्य अतिथि गुलाब सिंह यादव(बाबुजी)एविशेष अतिथि कमल चौरसिया चीफ एडिटर नरसिंहगढ़ ए मुख्य नगरपालिका अधिकारी नगर परिषद बोड़ा मोहम्मद सलीम खान द्वारा मां सरस्वती के चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलन एवं माल्यार्पण कर की गई।


कार्यक्रम का संचालन करते हैं वह पार्षद प्रतिनिधि संजयराठौर ने देश में आई कोरोना महामारी में अपनी ड्यूटी पर तैनात कोरोना योद्धा बोड़ा पुलिस थाना प्रभारी राजपालसिंह राठौरए राधेश्याम राजपूत बोड़ा मंडल अध्यक्ष भाजपाए अम्बाराम अहिरवार प्रभारी राजस्व निरीक्षक ए जिला सहकारी बैंक बोड़ा शाखा प्रबंधक मोहनसिंह परमार एपूर्व शाखा प्रबंधक रामप्रसाद राठौरबद्रीलाल पुरबिया राजस्व निरक्षक नगर परिषद बोड़ा की निरंतर सेवाओं के अपने विचार व्यक्त किए कार्यक्रम के मुख्य अतिथि गुलाब सिंह यादव ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि कोरोना काल में कोरोना योद्धाओं द्वारा अपने कर्तव्य पर रहते हुए विषम परिस्थितियों में नर सेवा नारायण सेवा आत्मसात करते हुए जो जो सेवाएं दी है वह सराहनीय है हम नागरिक गण इनकी सेवाओं के लिए नमन करते हैं।


कार्यक्रम के दौरान विशालसोनी नरसिंहगढ़ जगदीश गुप्ता संजयराठौर मुकेशपुष्पद राहुल पाटीदार जगदीशगुप्ता कार्यक्रम के अंत में आभार ओमप्रकाश राठौर द्वारा व्यक्त गया


Popular posts
सरकारी माफिया / म. प्र. भोज मुक्त विश्वविद्यालय बना आर्थिक गबन और भ्रष्टाचार का अड्डा* **राजभवन सचिवालय के अधिकारियों की कार्य प्रणाली संदेह के घेरे में** *कांग्रेसी मूल पृष्ठ भूमि के कुलपति डॉ जयंत सोनवलकर अब राज्यपाल आर एस एस का संरक्षण बताकर कर रहे है खुलकर भ्रष्टाचार*
ग्रामीण आजीविका मिशन मे भ्रष्टाचार की फिर खुली पोल, प्रशिक्षण के नाम पर हुआ घोटाला, एनसीएल सीएसआर मद से मिले 12 लाख डकारे
Image
दैनिक रोजगार के पल समाचार की तरफ से सभी पत्रकार साथियों को विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
Image
भारत- सीमा विवादः भारत की अंतरराष्ट्रीय सीमा, नियंत्रण रेखा और वास्तविक नियंत्रण रेखा - ये तीनों आख़िर हैं क्या?
Image
घुटने टेकना' पहले सजा थी, अब 'घुटने टेके' तो सजा मिल गयी