रता ग्रामीणों से मजाक करता हुआ मुख्यमंत्री ग्रामीण नल जल यजना


शुरुआती दौर में मुख्यमंत्री ग्रामीण नल जल यजना का नया अंदाज पीएचई विभाग की कुंभकरनिय नींद प्रदेश के आका का आशीर्वाद


एक करड़ 57 लाख रुपए की लागत से नल जल यजना का कार्य गुणवत्ता हीन विद्युत बिल आज दिनांक तक ठेकेदार एवं विभाग द्वारा नहीं भरा गया विद्युत विभाग द्वारा 135 का न-टिस दिया गया ग्राम पंचायत चिखली आमढाना अगस्त माह का बिल 7.5 एचपी वहीं सितंबर माह का 19 एचपी मटर का बिल प्रदाय किया, विद्युत विभाग की दिलेरी विद्युत विभाग द्वारा 135 का न टिस, याराना पीएचई विभाग की मनमानी का चिखली आमढाना शब्द पावर मध्य प्रदेश के कई जिलों में मुख्यमंत्री ग्रामीण नल जल य जना का कार्य बड़े ही उत्साह के साथ पंचायती राज के पंचायतों के साथ ठगी करते हुए किया जा रहा है..... पंचायती राज के कई ग्राम पंचायतों एवं शासकीय भवनों में पीएचई विभाग एवं मुख्यमंत्री ग्रामीण नल जल यजना के ठेकेदारों द्वारा अतिक्रमण कर ग्रामों में नल जल य जना का कार्य शासन प्रशासन के रूप रेखा क ताक पर रखते हुए अपने ही मन मर्जी से कर रहे हैं...... इस कार्य में ग्राम पंचायतों के सरपंच सचिव कि अनुभव हीनता कहे या दिलेरी जिसे पूरे विश्वास के साथ मुख्यमंत्री ग्रामीण नल जल य-जना कार्य के लिए पंचायत भवन एवं शासकीय भवनों का पीएचई विभाग के ठेकेदारों द्वारा बिना किसी मूल्य के बतौर ग-प्साउन की तरह इस्तेमाल किया जा रहा है..... इसी तरह मुख्यमंत्री ग्रामीण नल जल यजना एवं पीएचई विभाग के ठेकेदारों द्वारा पंचायत का ठगी का एक मामला सामने आया है..... बैतूल जिला घड़ा तोंगरी विकासखंत अंतर्गत ग्राम पंचायत चिखली आमढाना मैं मुख्यमंत्री ग्रामीण नल जल यजना का कार्य पूर्व में किया गया..... जिस की लागत मूल्य एक करड़ 57 लाख है उक्त कार्य पूर्ण हुआ या नहीं इसकी जानकारी ग्राम पंचायत का नहीं दी गई..... जिसकग्राम पंचायत की ओर से अपूर्ण एवं गुणवत्ता विहीन बताया जा रहा है..... जैसे के निम्नानुसार त्रुटिया मुख्यमंत्री ग्रामीण नल जल यजना के ठेकेदारों एवं पीएचई विभाग द्वारा की गई है.....


1) नल जल यजना का कार्य प्रारंभ हाने पर आपके विभाग एवं ठेकेदार द्वारा बताया गया था, उक्त कार्य की रूपरेखा पीएचई विभाग एवं ठेकेदार द्वारा 2 वर्ष तक विद्युत बिल एवं मरम्मत का कार्य विभाग द्वारा किया जाएगा.....


2) उक्त कार्य की ग्राम पंचायत का किसी प्रकार की प्रजेक्ट रिपार्ट एवं ठेकेदार एवं विभाग द्वारा की गई एग्रीमेंट की जानकारी नहीं दी गई.....?


3) उक्त नल जल यजना कार्य प्रारंभ हाने पर बिजली कनेक्शन ठेकेदार द्वारा सरपंच के नाम से कराया गया जकि अनुचित है.....?


4) उक्त कार्य में कितने घरों में नल कनेक्शन दिया गया, कितने एचपी की विद्युत मटर बर में साली गई, ग्राम पंचायत का जानकारी नहीं दी गई.....?


5) उक्त कार्य में लगने वाली विद्युत मटर का कनेक्शन सरपंच द्वारा इसलिए करवा लिया गया था कि विभाग व ठेकेदार द्वारा विद्युत बिल का भुगतान एवं मरम्मत का कार्य 2 वर्ष तक पंचायत के हैंस व्हवर तक किया जाएगा.....?


6) उक्त कार्य का विद्युत बिल आज दिनांक तक ठेकेदार एवं विभाग द्वारा नहीं भरा गया.....?


7) उक्त कार्य पर लगी विद्युत मटर का बिजली विभाग द्वारा 21/8/2020 का निरीक्षण कर धारा 135 के तहत न्यायालय में प्रकरण बना दिया गया जकि अनुचित है.....?


8) उक्त नल जल यजना का कार्य गुणवत्ता विहीन है एवं प्रारंभ से ही कभी भी कहीं भी पाइप लाइन लीकेज ह जाती है व उक्त नल जल यजना पिछले 3 माह से बंद है, साथ ही गुणवत्ता हीन कार्य हाने से ग्रामीणों में रष व्याप्त है.....


9) उक्त नल जल यजना का कार्य प्रगतिरत है या पूर्ण ह गया ग्राम पंचायत की जानकारी नहीं दी गई.....?


प्राप्त जानकारी के अनुसार चिखली आमढाना ग्राम पंचायत द्वारा मुख्य अभियंता लक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग बैतूल, ग्रामीण यांत्रिकी लक स्वास्थ्य विभाग मध्यप्रदेश शासन कलेक्टर बेतूल मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत घडाप्सोंगरी मुख्य अभियंता विद्युत विभाग बैतूल का 15/9/2020 क आवेदन के माध्यम से गुणवत्ता विहीन कार्य हेतु 9 बिंदुओं पर जांच कर उक्त नल जल यजना का सर्वेकर सुचारु रुप से चालू करवाने की कृपा करें ऐसी मांग की गई थी..... जबकि आज दिनांक तक जिला एवं प्रदेश के सक्षम अधिकारियों द्वारा किसी तरह की कार्यवाही पीएचई विभाग एवं ठेकेदार पर नहीं की गई..... जिसका हर्जाना के रूप में ग्राम पंचायत चिखली आमढाना क विद्युत बिल साथ ही ग्राम में जगह-जगह से पाइप लीकेज हना, ग्राम के अंदर की बीच सप्त कन खदना, ग्राम पंचायत क्षेत्र का विकास की जगह विनाश करने हेतु पीएचई विभाग एवं ठेकेदार द्वारा किसी तरह की कार कसर नहीं छड़ी गई..... जिसका भुगत मान या परिणाम ग्राम पंचायत क्षेत्र के ग्राम वासी भुगत रहे हैं ? जिससे ग्रामीणों में रष व्याप्त है..... जिससे ग्राम पंचायत चिखली आमढाना की आब हवा या शांति भंग ह ने की प्रदेश एवं जिला प्रशासन की नाकामी के चलते ग्रामीणों द्वारा संभावना व्यक्त की जा रही है..... ग्राम पंचायत क्षेत्र के ग्रामीणों द्वारा उग्र रूप धारण करने से पहले प्रशासन द्वारा मुख्यमंत्री ग्रामीण नल जल यजना के लक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग एवं ठेकेदारों पर दंसात्मक कार्रवाई करते हुए ग्राम पंचायत चिखली आम ढाना के हैंस ओवर करने की मांग की है..... 


सच कसच झूठ क झूठ लिखता हूं इसलिए ल-गों का मैं बुरा लगता हूं


डॉ जाकिर शेख सब एप्लिटर मध्य प्रदेश 9893805727


 


Popular posts
बैतूल पाढर चौकी के ग्राम उमरवानी में जुआ रेड पर जबरदस्त कार्यवाही की गई
Image
जांच के इंतजार में आर ई एस तालाब सलैया
दैनिक रोजगार के पल परिवार की तरफ से समस्त भारतवासियों को दीपावली पर्व की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं
Image
सरकारी माफिया / म. प्र. भोज मुक्त विश्वविद्यालय बना आर्थिक गबन और भ्रष्टाचार का अड्डा* **राजभवन सचिवालय के अधिकारियों की कार्य प्रणाली संदेह के घेरे में** *कांग्रेसी मूल पृष्ठ भूमि के कुलपति डॉ जयंत सोनवलकर अब राज्यपाल आर एस एस का संरक्षण बताकर कर रहे है खुलकर भ्रष्टाचार*
रायसेन में डॉ राधाकृष्णन हायर सेकंडरी स्कूल के पास मछली और चिकन के दुकान से होती है गंदगी नगर पालिका प्रशासन को सूचना देने के बाद भी नहीं हुई कोई कार्यवाही