आज की कटु अनुभूति - हृदय-विदारक ये घटनाएं "हाथरस गैंगरेप" मेरे नारी-मन को झकझोर के रख देतीं हैं,"निर्भया" जैसे अनगिनत घ्रणित कृत्य देश के गौरव को,, भारत के पौरुष को शर्मशार कर देते हैं - आलेख श्रीमती श्रद्धा गुप्ता


 हा! हा!! ये विडंबना हायरे!


ये गहरी वेदना क्यों मर गयी है


चेतना क्यों शून्य है


निश्चेतना कुछ पशु रूपी पुरुष,


जो पशुओं से भी बद्तर,


देते हैं गाली मां को, उस कोख को शर्मिंदा कर।


इससे घ्रणित कोई कृत्य न ये कितनी नीच हरकत?


इन नपुंसक पुरुषों पर, क्यों मौन साधे हैं सब?


फांसी की सज़ा भी,


इस गुनाह से है कमतर


माफी के काबिल ऐसे,


अपराध नही होते!!


ज्वाला धधक रही है,


रग-रग में जल रही है!


हा! हा! रे ये विवशता,


भारत का खोता पौरुष!!


जितना भी लिखूं कम है..


बस आंख मेरी नम है...


उस पीड़िता का दर्दो-ग़म


"सिद्धि" में जलते पल-पल....


 श्रद्धा "सिद्धि"


Popular posts
बैतूल पाढर चौकी के ग्राम उमरवानी में जुआ रेड पर जबरदस्त कार्यवाही की गई
Image
आंसू" जता देते है, "दर्द" कैसा है?* *"बेरूखी" बता देती है, "हमदर्द" कैसा है?*
उत्तर प्रदेश: सिखों को बंटवारे के बाद मिली ज़मीन पर विवाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से आश्वासन मिला बावजूद इसके नोटिस मिलना जारी है
Image
मध्यप्रदेश के मेघनगर (झाबुआ) में मिट्टी से प्रेशर कुकर बन रहे है
Image
कान्हावाड़ी में बनेगी अनूठी नक्षत्र वाटिका, पूर्वजों की याद में लगायेंगे पौधे* *सांसद डीडी उइके एवं सामाजिक कार्यकर्ता मोहन नागर ने कान्हावाड़ी पहुँचकर किया स्थल निरीक्षण
Image