आज की कटु अनुभूति - हृदय-विदारक ये घटनाएं "हाथरस गैंगरेप" मेरे नारी-मन को झकझोर के रख देतीं हैं,"निर्भया" जैसे अनगिनत घ्रणित कृत्य देश के गौरव को,, भारत के पौरुष को शर्मशार कर देते हैं - आलेख श्रीमती श्रद्धा गुप्ता


 हा! हा!! ये विडंबना हायरे!


ये गहरी वेदना क्यों मर गयी है


चेतना क्यों शून्य है


निश्चेतना कुछ पशु रूपी पुरुष,


जो पशुओं से भी बद्तर,


देते हैं गाली मां को, उस कोख को शर्मिंदा कर।


इससे घ्रणित कोई कृत्य न ये कितनी नीच हरकत?


इन नपुंसक पुरुषों पर, क्यों मौन साधे हैं सब?


फांसी की सज़ा भी,


इस गुनाह से है कमतर


माफी के काबिल ऐसे,


अपराध नही होते!!


ज्वाला धधक रही है,


रग-रग में जल रही है!


हा! हा! रे ये विवशता,


भारत का खोता पौरुष!!


जितना भी लिखूं कम है..


बस आंख मेरी नम है...


उस पीड़िता का दर्दो-ग़म


"सिद्धि" में जलते पल-पल....


 श्रद्धा "सिद्धि"


Popular posts
बैतूल पाढर चौकी के ग्राम उमरवानी में जुआ रेड पर जबरदस्त कार्यवाही की गई
Image
एक ऐसी महान सख्सियत की जयंती हैं जिन्हें हम शिक्षा के अग्रदूत नाम से जानते हैं ।वो न केवल शिक्षा शास्त्री, महान समाज सुधारक, स्त्री शिक्षा के प्रणेता होने के साथ साथ एक मानवतावादी बहुजन विचारक थे। - भगवान जावरे
Image
कोरोना के एक वर्ष पूरे आज ही के दिन चीन में कोरोना का पहला केस मिला था
Image
वेतन वृद्धि को एरियर्स सहित जून माह के वेतन के साथ दी जाए
दैनिक रोजगार के पल परिवार की तरफ से समस्त भारतवासियों को दीपावली पर्व की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं
Image