जिला जनसंपर्क कार्यालय उमरिया समाचार लॉकडाउन के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग नियमों के साथ कृषि कार्य हेतु छूट रहेगी

जिला जनसंपर्क कार्यालय उमरिया
समाचार


लॉकडाउन के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग नियमों के साथ कृषि कार्य हेतु छूट रहेगी
उमरिया 6 अप्रैल- कलेक्टर स्वरोचिष सोमवंषी ने बताया कि  जिले में रबी फसलों की कटाई गहाई एवं ग्रीष्मकालीन फसलों की बुवाई तथा उद्यानिकी फसलों के कृषि कार्यों को ध्यान में रखते हए कृषकों द्वारा मांग की जा रही है, क्योंकि नोवल कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण से रोकथाम को दृष्टिगत रखते हये जिले में लॉकडाउन, दण्ड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 के तहत प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किये गये है। नोवल कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण से रोकथाम हेतु स्वास्थ्य विभाग भारत सरकार एवं मध्यप्रदेश सरकार द्वारा जारी दिशा निर्देश में उल्लिखित शर्तों के अधीन रहते हये जिसका पालन अनिवार्य रूप से किया जावेगा। इस दौरान कृषि कार्य से संबंधित दुकान संचालको को यह भी निर्देशित किया जाता हहै कि वह दुकान पर 02-03 लोगो से ज्यादा व्यक्ति इकट्ठा न हो एवं सोशल डिस्टैसिंग के साथ ही सेनेटाईजर एवं मास्क का अनिवार्य उपयोग कर कडाई से पालन करेंगे तथा कृषि कार्य के यंत्र संचालन हेतु किसान एवं कृषि श्रमिकों को जिले में कृषि एवं फसल कटाई कार्य हेतु निम्नानुसार कार्यों की अनुमति प्रदाय की जाती है जिसमें कृषि एवं बागवानी से संबंधित कृषि यंत्र के समस्त अधिकृत पार्टस विक्रेता (जैसे-ट्रेक्टर, कम्बाईन हार्वेस्टर, रीपर, थ्रेसर, कटाई मशीन आदि) पार्ट्स की दुकान संचालकों को आवश्यकतानुसार स्पेयर पार्टस निर्धारित दर पर विक्रय के लिए लॉकडाउन में दुकान खोलने की अनुमति दी जाती है। इन यंत्रों के रिपेयरिंग करने वाले मिस्त्री एवं ट्रेक्टर एवं कृषि यंत्र चालक ड्रायवर , कृषि सुधार मैकेनिक वैध ड्रायविंग लायसेंस पहचान पत्र अनिवार्यतः  साथ में रखेंगे। कृषि यंत्र संचालन में लगने वाला डीजल, इंजन ऑयल को लाने ले जाने के लिए यंत्र से संबंधित समस्त वैध दस्तावेज के साथ छूट दी जाती है। किसी भी परिस्थिति में डीजल एवं इंजन ऑयल का स्टॉक नहीं करेंगे न ही कालाबाजारी आदि में उपयोग करेंगे ऐसा पाये जाने पर वैधानिक कार्यवाही की जावेगी। जिले में कृषि यंत्रों को एक स्थान से लाने ले जाने की छूट के लिये वाहन तथा यंत्र संचालन करने वाले 2 से 3 लोग वैध पहचान पत्र एवं डाविंग लायसेंस तथा वाहन के वैध दस्तावेज रखना अनिवार्य होगा। 
 उन्होने बताया कि किसान एवं कृषि कार्य में लगने वाले सभी श्रमिकों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा एवं दो मीटर की दूरी रखते हये कटाई कार्य संपन्न कराना होगा। कटाई के दौरान कम से कम 3 बार हाथ धोना सुनिश्चित किया जाये।कटाई कार्य हेतु एक एकड़ में 5 से अधिक श्रमिक कार्य पर न रखे जाये। किसान कृषि श्रमिक को कटाई हेतु कार्य में यह सुनिष्चित  करना होगा कि श्रमिक सर्दी, खासंी, बुखार आदि से पीडित न हो।
ग्राम के बाहर से आये श्रमिकों जिनको होम आइसोलेशन पर रखा गया है, 14 दिवस तक कोई कार्य नहीं लिया जाये। आइसोलेशन पीरियड समाप्त होने पर कोई बीमारी के सिस्टम नही पाये जाने पर ही कृषि कार्य पर लगाया जाये। जिसकी निगरानी पंचायत सचित एवं आशा कार्यकती दवारा कटाई के समय लगातार की जावेगी। इन निर्देशों का कड़ाई से पालन किया जाये। ग्राम के बाहर से आये श्रमिको जिनकों होम आईसोलेषन पर रखा गया है , 14 दिवस तक कोई नही लिया जएए। आईसोलेषन पीरीयड समाप्त होने पर कोई बीमारी के सिस्टम नही पाये जाने पर ही  कृषि कार्य पर लगाया जाए। जिसकी निगरानी पंचायत सचिव एवं आषा कार्यकर्ता द्वारा कटाई के समय लगातार की जावेगी।
क्र070
प्रधानमंत्री जी के आव्हान पर नगर हुआ दीपो से जगमग
उमरिया ़6 अप्रैल - भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा 5 अप्रैल को 9 बजे घरों की समस्त लाईट बंद करके दिया, मोबाइल फ्लैष लाईट, मोमबत्ती जलाने का आव्हान किया था, जिसके परिप्रेक्ष्य में उमरिया सहित मानपुर, पाली, नौरोजाबाद  ,करकेली में 5 अप्रैल को 9 बजे ़9 मिनट के लिए लाईट बंद कर दी गई और लोगों के द्वारा अपने अपने घरो की छतो पर दिया जलाया गया। जिले कलेक्ट्रेट कालोनी, झिरिया मोहल्ला, कैंप मोहल्ला, खलेसर सहित अन्य वार्डो में भी प्रधानमंत्री जी के आव्हान पर दिये जलाये गये। 
क्र071


लाक डाउन के दौरान बाहर आये हुए मजदूरों को किया गया बांधवगढ़ (ताला) क्वारेटाईन
उमरिया 6 अप्रैल- धार जिले के पीथमपुर  स्थित कारखानों में कार्यरत मजदूरों को के द्वारा लाख डाउन के दौरान वहां से ट्रक वाहन के द्वारा कटनी और फिर कटनी से टेंपो टैक्सी से महरोई  के पास से उन्हें प्रशासन के द्वारा अपने निगरानी में लेकर बांधवगढ़ ताला स्थित छात्रावास में 14 दिन के लिए क्वॉरेंटाइन किया गया है।  जहां उनकी प्रारंभिक जांच की जा रही है जांच के दौरान अभी तक कोई भी व्यक्ति मे संक्रमण के लक्षण एवं अस्वस्थ नही  पाए गए हैं जिन्हें छात्रावास में रखा गया है यह मजदूर कामगार मानपुर क्षेत्र के स्थानी गांव जैसे सिगुडी ,कछौहा कठार, नौगवा के ग्रामों के गरीब मजदूर ग्रामीण है यहां उनके देखरेख में संपूर्ण जवाबदारी एवं भोजन की व्यवस्था स्थानीय सरपंच  रतिभान सिंह ग्राम पंचायत ताला बांधवगढ़ को दी गई है उक्त मजदूरों में 19 पुरुष 4 महिला दो बच्चे हैं। क्वारेटाइन  अधिकारियों में शामिल नायब तहसील दार, दशरथ सिंह, मनोज तिवारी आर, आई ताला  सेक्टर, ताला चौकी प्रभारी वीरेंद्र सिंह , आरक्षक सुधीर द्विवेदी, जगदीश , सरपंच ग्राम पंचायत ताला रतिभान सिंह  सेंगर,सचिव, अनिल पांडे ग्राम पंचायत ताला , स्वास्थ्य विभाग से सुपरवाइजर  सुधाकर सिंह प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ताला, राकेश सिंह ,समाजसेवी ताला, अशोक शुक्ला , स्वास्थ्य विभाग ताला , बाबा पाठक , राजू गुप्ता  , सागर पांडेय  की उपस्थिति रही।
क्र072
प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के क्रियान्वयन के लिए संभाग में बैंकिंग सेवाएं प्रो-एक्टिव होकर करें काम -  डॉ. भार्गव
 उमरिया 06अप्रैल 2020- कमिश्नर रीवा एवं शहडोल संभाग डॉ. अशोक कुमार भार्गव ने संभाग के समस्त बैंकर्स को निर्देश दिये हैं कि भारत सरकार द्वारा प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना अन्तर्गत जारी वित्तीय पैकेज का क्रियान्वयन प्रारंभ कर दिया गया है। महिलाओं के खाते में प्रधानमंत्री जनधन योजना के अन्तर्गत तीन माह तक प्रति माह 500 रूपये जमा किये जायेंगे। इसी प्रकार प्रधानमंत्री किसान योजना अन्तर्गत किसानों के खाते में 2 हजार रूपये प्रति खाते के मान से जमा किये जायेंगे। पेंशन योजना अन्तर्गत पेंशनर के खाते में राशि जमा की जायेगी। प्रदेश सरकार द्वारा भी निर्माण मजदूरों के खाते में एक हजार रूपये प्रति व्यक्ति के मान से राशि जमा की जायेगी। विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति और मध्यान्ह भोजन योजना अन्तर्गत छात्र-छात्राओं के खाते में राशि अंतरण की जानी है। बैंकर्स सुनिश्चित करें की समस्त हितग्राही अपने खाते से उक्त राशि सरलता पूर्वक आहरित कर लें। बैंक में राशि आहरण करते समय उन्हें किसी प्रकार की परेशानियों का सामना न करना पड़े। 
 कमिश्नर डॉ. भार्गव ने निर्देश दिये हैं कि भारत सरकार द्वारा बैंकिंग सेवाओं को अत्यावश्यक सेवायें माना गया है तथा बैंकों को लॉकडाउन की अवधि के दौरान भी सेवाएं उपलब्ध कराने के निर्देश दिये गये हैं। वे ध्यान रखें कि बैंकों से राशि आहरित करते समय प्रत्येक हितग्राही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें तथा अनावश्यक रूप से बैंकों में भीड़ न होने पाये। कमिश्नर ने निर्देश दिये कि प्रधानमंत्री जनधन योजना के अन्तर्गत राशि के आहरण हेतु सुविधा अनुसार सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए भीड़ एकत्रित न हो तथा राशि आहरण करने में हितग्राही को परेशानी न हो। उन्होंने कहा कि नगर पालिक निगम द्वारा शहर को सेनेटाइजेशन करने के दौरान बैंक शाखा परिसर को भी सेनेटाइज किया जाय।


क्र073


संभाग में कोरोना वायरस से बचाव के लिए मजदूरों एवं ग्रामीणों को पिलायें त्रिकटू काढ़ा - डॉ. भार्गव 
 उमरिया 06 अप्रैल 2020-कमिश्नर रीवा एवं शहडोल संभाग डॉ. अशोक कुमार भार्गव ने निर्देश दिये हैं कि मुख्यमंत्री जी द्वारा दिये गये निर्देशानुसार कोरोना वायरस के बचाव और प्रतिरोधात्मक उपायों के लिए संभाग के समस्त ग्राम पंचायतों में दूसरे प्रदेशों से आये मजदूरों एवं कोरोना संक्रमित व प्रभावी क्षेत्रों में जिला आयुष अधिकारी की टीम ग्रामीणों को आयुर्वेद औषधि त्रिकटू काढ़ा बनाकर पिलायें। 
 कमिश्नर डॉ. भार्गव ने निर्देश दिये कि समस्त ग्राम पंचायतों में आयुर्वेद एवं होम्योपैथी औषधियों का वितरण सुनिश्चित किया जाय। उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायतों के सरपंच एवं सचिव के माध्यम से दूसरे प्रदेशों से वापस आये मजदूरों उनके परिवारों एवं ग्राम निवासियों को आयुर्वेद औषधि के साथ ही होम्योपैथी औषधि आर्सेनिक एल्ब-30 का वितरण सुनिश्चित किया जाय। उन्होंने कहा कि प्रत्येक औषधालय में दो व्यक्तियों की टीम बनाकर ग्राम पंचायतों के सरपंच एवं सचिवों के माध्यम से औषधियों का वितरण सुनिश्चित किया जाय। औषधि वितरित करते समय मास्क, सेनेटाइजर एवं सोशल डिस्टेंसिंग के प्रावधानों का कड़ाई से पालन किया जाये।
क्र074


 


कोरोना संकट से निपटने के लिए कड़ाई से करना होगा पाबंदियों पर अमल - मुख्यमंत्री श्री चौहान 
उमरिया 6 अप्रैल-  मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोरोना संकट से निपटने के लिए हम सबको पाबंदियों पर कड़ाई से अमल करना होगा। उन्होंने कहा कि समस्या को बढ़ने से रोकने के लिए हमें सभी जरूरी कदम उठाने होंगे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि बाहर से आए कुछ लोगों की वजह से भोपाल में समस्याएं बढ़ी हैं। हमें हर हाल में भोपाल को हॉटस्पॉट बनने से रोकना होगा। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के दौरान बिना अपरिहार्य कारण के बाहर निकलने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। समस्या बड़ी है तथा इसे और अधिक व्यापक रूप लेने से रोकना होगा। किसी भी व्यक्ति को उसकी नासमझी से समस्याओं में इजाफा करने की इजाजत नहीं दी जाएगी। श्री चौहान ने कहा कि व्यापक जनहित में हम सभी को काम करना होगा और थोड़ी-बहुत असुविधाएं भी बर्दाश्त करनी होगी।  
मुख्यमंत्री ने आशा कार्यकर्ताओं से भी बात की
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत आशा कार्यकर्ता, ए.एन.एम. तथा स्टाफ नर्स से टेलीफोन पर बातचीत कर कोरोना नियंत्रण के लिए जमीनी स्तर पर हो रहे काम की जानकारी ली। श्री चौहान ने आशा कार्यकर्ता बीनू सोनू से मैदानी स्थितियों के बारे में ब्यौरा लिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग के जमीनी अमले का मौजूदा हालात में किया जा रहा काम तारीफ के काबिल है। 
इन्दौर की स्टाफ नर्स ज्योतिका चतुर्वेदी से चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जिस प्रकार दिन-रात आप अपना काम कर रही हैं उसके लिए पूरा प्रदेश आपका आभारी है। ज्योतिका ने कहा कि हम मिलजुल कर हर हाल में कोरोना को हरायेंगे।
इसी प्रकार इन्दौर की स्टाफ नर्स दीपशिखा गंगराडे को धन्यवाद देते हुए मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना से संघर्ष आप लोगों की अदम्य क्षमता और जिजीविषा का परिचायक है। उन्होंने कहा कि आप लोगों की दिन-रात मेहनत प्रशंसनीय है। भोपाल की ए.एन.एम. पूर्णिमा पाण्डे से भी श्री चौहान ने चर्चा की। 
क्रमांक 
कोरोना संकट से निपटने के लिए कड़ाई से करना होगा पाबंदियों पर अमल - मुख्यमंत्री श्री चौहान 
उमरिया 6 अप्रैल-  मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोरोना संकट से निपटने के लिए हम सबको पाबंदियों पर कड़ाई से अमल करना होगा। उन्होंने कहा कि समस्या को बढ़ने से रोकने के लिए हमें सभी जरूरी कदम उठाने होंगे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि बाहर से आए कुछ लोगों की वजह से भोपाल में समस्याएं बढ़ी हैं। हमें हर हाल में भोपाल को हॉटस्पॉट बनने से रोकना होगा। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के दौरान बिना अपरिहार्य कारण के बाहर निकलने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। समस्या बड़ी है तथा इसे और अधिक व्यापक रूप लेने से रोकना होगा। किसी भी व्यक्ति को उसकी नासमझी से समस्याओं में इजाफा करने की इजाजत नहीं दी जाएगी। श्री चौहान ने कहा कि व्यापक जनहित में हम सभी को काम करना होगा और थोड़ी-बहुत असुविधाएं भी बर्दाश्त करनी होगी।  
मुख्यमंत्री ने आशा कार्यकर्ताओं से भी बात की
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत आशा कार्यकर्ता, ए.एन.एम. तथा स्टाफ नर्स से टेलीफोन पर बातचीत कर कोरोना नियंत्रण के लिए जमीनी स्तर पर हो रहे काम की जानकारी ली। श्री चौहान ने आशा कार्यकर्ता बीनू सोनू से मैदानी स्थितियों के बारे में ब्यौरा लिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग के जमीनी अमले का मौजूदा हालात में किया जा रहा काम तारीफ के काबिल है। 
इन्दौर की स्टाफ नर्स ज्योतिका चतुर्वेदी से चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जिस प्रकार दिन-रात आप अपना काम कर रही हैं उसके लिए पूरा प्रदेश आपका आभारी है। ज्योतिका ने कहा कि हम मिलजुल कर हर हाल में कोरोना को हरायेंगे।
इसी प्रकार इन्दौर की स्टाफ नर्स दीपशिखा गंगराडे को धन्यवाद देते हुए मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना से संघर्ष आप लोगों की अदम्य क्षमता और जिजीविषा का परिचायक है। उन्होंने कहा कि आप लोगों की दिन-रात मेहनत प्रशंसनीय है। भोपाल की ए.एन.एम. पूर्णिमा पाण्डे से भी श्री चौहान ने चर्चा की। 
क्रमांक 75



मुख्यमंत्री श्री चौहान ने स्वीकार की कोरोना को हराने की चुनौती
उमरिया 6 अप्रैल- मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने 23 मार्च को मुख्यमंत्री पद का कार्यभार संभाला। इस समय तक कोरोना संक्रमण संकट का भय सम्पूर्ण प्रदेश में व्याप्त था। श्री चौहान के सामने सबसे बड़ी चुनौती इस भय को दूर कर जनता में विश्वास पैदा करने और व्यवस्थाएॅं बहाल करने की थी। लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग और कोरोना संक्रमण से बचने के लिये सावधानियां अपनाने के लिये तैयार कराना सबसे बड़ा काम था। साथ ही, स्वास्थ्य अमले को आवश्यक संसाधन उपलब्ध कराना भी मुख्य लक्ष्य था।  प्रदेश में टेस्टिंग किट, लैब सुविधा, चिकित्सकों, मरीजों और उनके परिवार की सुरक्षा के लिये पर्याप्त उपकरण, मास्क, पीपीई किट आदि सीमित थे। कोरोना संक्रमण के संभावित और प्रभावित मरीजों की देखरेख के लिये नर्सों, पैरामेडिकल स्टाफ को प्रशिक्षण और तकनीकी साधन उपलब्ध कराना जरूरी था।
सात दिन में ही बदलने लगी स्थिति
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने इस संकट से प्रदेश को मुक्त कराने की चुनौती स्वीकार की है। श्री चौहान ने कोरोना को हराने के लिये वन मैन ऑर्मी के नायक की भूमिका निभा रहे हैं। उन्होंने कार्यभार ग्रहण करते ही वीडियो कान्फ्रेंसिंग कर एक ओर तो सभी जिलों की स्थिति की समीक्षा की और दूसरी तरफ प्रदेश की जनता को संबोधित कर अपने साथ लिया। जनसामान्य से संवाद के लिये सीएम हेल्पलाइन और सहायता के लिये कॉल सेंटर को चाक-चौबंद किया गया। अस्पतालों और चिकित्सा अमले के संसाधनों को बढ़ाने पर श्री चौहान ने विशेष ध्यान दिया। परिणामस्वरूप कार्यभार ग्रहण करने के सातवें दिन से प्रदेश की स्थिति बदलनी आरंभ हो गयी। प्रदेश में आज दिनांक तक हमारे पास 20 हजार आई.टी.पी.सी.आर. हैं। हमारी टेस्टिंग क्षमता 6 लैब में 500 टेस्ट प्रतिदिन है। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि यह क्षमता 14 लैब में 1,000 टेस्ट प्रतिदिन की जाना है। वर्तमान में प्रदेश में 29,795 पीपीई किट्स हैं तथा हम 5 हजार पीपीई किट्स प्रतिदिन बाँटने की स्थिति में है। ये किट्स संभागीय मुख्यालयों को पहुँचाए जा रहे हैं। हाइड्रो क्लोरोक्वीन गोलियों की संख्या 2 लाख 25 हजार है। आगामी चार दिनों में 10 लाख गोलियाँ और मिल जाएंगी। आज 1 लाख 14 हजार है, 50 हजार एन-95 मास्क वितरित कर दिए जाएंगे। आक्सीजन सिलेंडर 3,324 हैं तथा 1,000 का ऑर्डर दिया गया है। 


अस्पतालों में बेड, वेन्टिलेटर की व्यवस्था
मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा व्यवस्थाओं को गति देने के परिणामस्वरूप प्रदेश में 24 हजार 27 बेड मरीजों के लिये उपलब्ध है। इसके साथ ही भोपाल, इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर, रीवा और सागर के शासकीय चिकित्सा महाविद्यालयों में 394 आईसीयू बेड और 319 वेंटिलेटर तथा 8 निजी चिकित्सा महाविद्यालयों में 418 आईसीयू बेड और 132 वेंटिलेटर की व्यवस्था मौजूद है। इसके साथ ही निजी क्षेत्र के चिन्हित 107 अस्पतालों में 276 आईसोलेशन बेड 1261 आईसीयू बेड और 385 वेंटिलेटर उपलब्ध है। 
प्रदेश में कोविड-19 वायरस की टेस्टिंग की पर्याप्त सुविधा विकसित कर ली गयी है। वर्तमान में 6 टेस्टिंग लेब एम्स भोपाल, जीएमसी भोपाल, एनआईआरटीएच जबलपुर, डीआरडीई ग्वालियर, बीएमएचआरसी भोपाल और मेडिकल कॉलेज इंदौर संचालित है। पाँच अन्य लेब शीघ्र आरंभ होंगी। 
चिकित्सा सलाह व निगरानी में आई.टी. का उपयोग
कोविड प्रभावित होम क्वरंटाइन किये गये लोगों को घरों से सीधे संवाद करने के लिये सभी जिलों में टेलीमेडिसिन केन्द्र की स्थापना की गयी है। वीडियो कॉलिंग के माध्यम से प्रभावित व्यक्ति से चिकित्सक सीधे संवाद कर सकते है। क्वरंटाइन किये गये व्यक्तियों की निगरानी के लिये सार्थक एप विकसित किया गया है। इससे फोटो बेस्ड जियो टेगिंग पद्धति से मरीजों की निगरानी की जा रही है। प्रदेश के अनेक जिलों में 26 हजार 800 स्वयंसेवकों ने सार्थक एप पर मरीजों की निगरानी के लिये अपनी सहमति प्रदान की है। 
नर्सों तथा पैरामेडिकल स्टाफ को तत्काल प्रशिक्षण उपलब्ध कराने के उद्देश्य से डब्ल्यूएचओ तथा यूनिसेफ के माध्यम से प्रशिक्षण मॉड्यूल तैयार कर जूम एप द्वारा प्रशिक्षण दिया जा रहा है।
विन्ध्य क्षेत्र में विशेष योगदान
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने विन्ध्य क्षेत्र को कोरोना संकट से सुरक्षित करने की पुख्ता व्यवस्था की है। शहडोल, रीवा, और सिंगरौली जिलों में कोरोना के इलाज के लिए अलग-अलग स्पेसिफाइड अस्पताल की व्यवस्था की गई है। इन अस्पतालों में केवल कोरोना के मरीजों का उपचार होगा। यहाँ इलाज की सभी आधुनिक व्यवस्थाएँ है।
क्रमांक 76
लॉकडाउन का सभी जिलों में हो सख्ती से पालन-  मुख्यमंत्री श्री चौहान
मुख्यमंत्री ने कोरोना व्यवस्थाओं पर ली उच्च अधिकारियों की बैठक 
उमरिया 6 अप्रैल-  मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना का कम्युनिटी स्प्रेड रोकने के लिए यह आवश्यक है कि लॉक डाउन का कड़ाई से पालन सुनिश्चित हो। सभी कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक अपने जिलों में लॉकडाउन का सख्ती से पालन किया जाना सुनिश्चित करें। कोरोना संबंधी कार्य में लगे अमले के कार्य में बाधा उत्पन्न करना तथा कोरोना को  छुपाना दंडनीय अपराध है। चाहे वह व्यक्ति किसी भी वर्ग अथवा समुदाय का हो, उसके विरुद्ध कठोर कार्रवाई की जाएगी। नर्स, डॉक्टर आदि के आवागमन के लिए वाहनों की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। प्रदेश के सभी सरकारी अस्पतालों में वर्तमान में लिया जाने वाला ओपीडी शुल्क आगामी आदेश तक नहीं लिया जाए। सभी सरकारी अस्पतालों में ओपीडी चालू रहे तथा मरीजों को सामान्य इलाज की सुविधा निरंतर मिलती रहे। मुख्यमंत्री श्री चौहान प्रदेश में कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की उच्चाधिकारियों के साथ मंत्रालय में वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से समीक्षा कर रहे थे।
प्रमुख सचिव श्रीमती गोविल के हौसले को सलाम
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रमुख सचिव स्वास्थ्य श्रीमती पल्लवी जैन गोविल के हौसले को सलाम करते हुए कहा कि आप जैसे अधिकारियों के सहयोग से हम प्रदेश से शीघ्र ही कोरोना को पूरी तरह समाप्त कर देंगे। मुख्यमंत्री ने श्रीमती गोविल को आराम करने की सलाह दी, परंतु उन्होंने कहा कि वे एकदम ठीक हैं तथा उन्हें कोई परेशानी नहीं है। श्रीमती गोविल ने कोरोना की अद्यतन स्थिति से मुख्यमंत्री को अवगत कराया।
टेस्टिंग किट्स, दवाओं की पर्याप्त उपलब्धता
मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस ने मुख्यमंत्री को बताया कि प्रदेश में कोरोना किट्स, पीपीई किट्स, दवाओं आदि की पर्याप्त उपलब्धता है। अभी हमारी कोरोना की टेस्टिंग क्षमता 500 है। आगामी 3 से 7 दिन में हम इसे बढ़ाकर 1000 तक पहुंचा देंगे। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि मुरैना, छिंदवाड़ा आदि में में जो कोरोना संक्रमित भर्ती हैं, उन्हें आवश्यकता हो, तो ग्वालियर या जबलपुर के मेडिकल कॉलेज के अस्पताल में शिफ्ट किया जा सकता है।
बाहर से आने वाले श्रमिकों की संख्या में आई कमी
अपर मुख्य सचिव श्री मनोज श्रीवास्तव ने बताया कि प्रदेश में वापस लौटने वाले श्रमिकों की संख्या अब काफी कम हो गई है।  उनमें से 19083 का स्वास्थ्य परीक्षण कराया जा चुका है। इनके लिए भोजन, खाद्यान्न आदि की निरंतर व्यवस्था की जा रही है।
कालाबाजारी पर सख्त कार्रवाई
 मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि प्रदेश में मास्क, दवा, सैनिटाइजर, खाद्य सामग्री आदि की कालाबाजारी सख्ती से रोकी जाए। प्रमुख सचिव खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण श्री शिव शेखर शुक्ला ने बताया कि नीमच, निवाड़ी एवं झाबुआ जिलों से कुछ शिकायतें आई थीं। इन पर संबंधित के विरुद्ध आवश्यक वस्तु अधिनियम के अंतर्गत कार्रवाई की जा रही है तथा किराना दुकान सील कर दी गई है। उन्होंने बताया कि फूड हेल्पलाइन के माध्यम से शिकायतों का त्वरित निराकरण किया जा रहा है। गत दिवस 4 लाख 13 हज़ार व्यक्तियों को भोजन के पैकेट दिए गए तथा 39000 व्यक्तियों को खाद्य सामग्री का वितरण किया गया। उन्होंने बताया कि प्रदेश के 22 जिलों में 178 गैर सरकारी संगठन प्रतिदिन लगभग 1 लाख 26 हज़ार व्यक्तियों को भोजन करा रहे हैं।
एन.सी.सी., एन.एस.एस., जन अभियान परिषद का सहयोग
 मुख्यमंत्री ने कोरोना संबंधित कार्यों में एन.सी.सी. एन.एस.एस. तथा जन अभियान परिषद के अमले को लगाए जाने के निर्देश दिए। बताया गया कि इस कार्य के लिए एन.एस.एस. के छात्रों का ऑनलाइन पंजीयन प्रारंभ कर दिया गया है तथा 8 से 10 हज़ार विद्यार्थियों ने कार्य की सहमति दी है। वहीं एन.सी.सी. के लगभग 500 कैडेट्स कार्य के लिए तैयार हो गए हैं। विद्यार्थियों के लिए रेडियो स्कूल भी निरंतर चल रहा है।
हितग्राही सुगमतापूर्वक निकाल सकें बैंकों से राशि
मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि केंद्र के गरीब कल्याण पैकेज के अंतर्गत हितग्राहियों के खातों में राशि आई है। इसी प्रकार राज्य सरकार द्वारा भी विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत हितग्राहियों को उनके खाते में राशि भेजी गई है। उन्होंने निर्देश दिये कि हितग्राही बैंकों से यह राशि सुगमता पूर्वक निकाल सकें, इसकी व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। वहां भीड़-भाड़ न हो। 
कोरोना संबंधी जानकारियों का समुचित प्रचार-प्रसार करें
 मुख्यमंत्री ने सचिव जनसंपर्क श्री पी.नरहरि को निर्देश दिये कि कोरोना संबंधी जानकारियों का आमजन में समुचित प्रचार-प्रसार कराया जाए।  इसके साथ ही सोशल मीडिया पर प्राप्त शिकायतों का भी निराकरण तत्परता से हो। श्री नरहरि ने  बताया कि गत दिवस सोशल मीडिया अकाउंटस पर 8700 कमेंटस आए। सभी का उत्तर दिया गया तथा जहां आवश्यकता थी, संबंधित विभागों को कार्रवाई के लिए अग्रेषित किया गया है।
क्रमांक 77


 


प्रधानमंत्री श्री  मोदी के नेतृत्व में भारत की जनता का सामूहिक संकल्प से परास्त होगा कोरोना
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सपरिवार रात 9 बजे जलाए दीए
उमरिया 6 अप्रैल- भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में कोरोना के खिलाफ जंग में आज पूरा देश एकजुट हुआ है। इस एकजुटता के संकल्प के रूप में सबने अपने-अपने घरों में दीए जलाए हैं तथा प्रकाश किया है। भारत की 130 करोड़ जनता का यह सामूहिक संकल्प कोरोना को परास्त करेगा। मानवता जीतेगी, इंसान जीतेगा। हम कोरोना के अंधकार को विश्वास के प्रकाश से पराजित करेंगे। ष्तमसो मा ज्योतिर्गमयश्श्।
प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के आज 5 अप्रैल को रात के 9 बजे से 9 बजकर 9 मिनिट तक घर की सभी बत्तियां बंद कर दीए, मोमबत्ती, मोबाइल की फ्लेश लाइट आदि जलाने के आह्वान पर मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने निवास पर सपरिवार दीए जलाए तथा संकल्प लिया कि हम सब प्रदेशवासी मिलकर कोरोना को जल्दी से जल्दी परास्त करेंगे। 
क्रमांक78


Popular posts
घुटने टेकना' पहले सजा थी, अब 'घुटने टेके' तो सजा मिल गयी
ग्राम बादलपुर में धान खरीदी केंद्र खुलवाने के लिये बैतूल हरदा सांसद महोदय श्री दुर्गादास उईके जी से चर्चा करते हुए दैनिक रोजगार के पल के प्रधान संपादक दिनेश साहू
Image
18 दिन के महाभारत युद्ध ने* *द्रौपदी की उम्र को* *80 वर्ष जैसा कर दिया था...*
Image
कुजू कोयला मंडी में रामगढ़ पुलिस का छापा कैफ संचालक समत दो हिरासत में
कान्हावाड़ी में बनेगी अनूठी नक्षत्र वाटिका, पूर्वजों की याद में लगायेंगे पौधे* *सांसद डीडी उइके एवं सामाजिक कार्यकर्ता मोहन नागर ने कान्हावाड़ी पहुँचकर किया स्थल निरीक्षण
Image